Top
Begin typing your search...

अशोक गहलोत बोले- अभी 15-20 साल मैं कहीं नहीं जा रहा, अगली बार भी CM बनूंगा और अपनी मर्ज़ी से मंत्री भी बनाऊंगा

हलोत ने साफ़ कर दिया है, आप निश्चिंत रहे पांच साल सरकार रहेगी और अगली बार भी सरकार बनाएंगे.

अशोक गहलोत बोले- अभी 15-20 साल मैं कहीं नहीं जा रहा, अगली बार भी CM बनूंगा और अपनी मर्ज़ी से मंत्री भी बनाऊंगा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

राजस्थान : पंजाब कांग्रेस में सियासी घमासान जारी है. कयास लगाए जा रहे हैं कि राजस्थान में भी कांग्रेस सरकार में खींचतान होगी। लेकिन इससे पहले सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा बयान दिया है. मुख्यमंत्री गहलोत ने साफ़ कर दिया है, 'पंजाब के बाद राजस्थान, छत्तीसगढ़ के बारे में कहानियां बनाई जाती हैं कि यहां भी बदलाव होने वाला है. आप निश्चिंत रहे पांच साल सरकार रहेगी और अगली बार भी सरकार बनाएंगे. अगली बार भी मै हीं मुख्यमंत्री बनूंगा और अपनी मर्ज़ी से मंत्री भी बनाऊंगा. मैं तो शांति धारीवाल को फिर से नगरीय विकास मंत्री बनाऊंगा.'

राजस्थान के सीएम ने यह बयान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयन्ती पर 2 अक्टूबर के मौके पर प्रशासन गांवों और शहरों के संग अभियान-2021 का शुभारम्भ करते हुए दिया है. इस कार्यक्रम में सीएम गहलोत ने कहा कि पंजाब के बाद राजस्थान और छत्तीसगढ़ के बारे में भी अटकलें लगाई जा रही थीं कि यहां भी कुछ फेरबदल हो सकता है. हालांकि में साफ कर दूं कि राजस्थान में कांग्रेस सरकार न केवल अपने पांच साल पूरे करेगी बल्कि राज्य में अगले विधानसभा चुनाव में फिर से सत्ता में आएगी.

इसके साथ ही सीएम ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा अगले राजस्थान चुनाव में कांग्रेस जीतती है तो वह फिर से शांति धारीवाल को शहरी विकास और आवास विभाग दिया जाएगा क्योंकि उन्होंने अभियान के संबंध में कड़ी मेहनत की है. जब उन्होंने यह बात कही तब स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल मंच पर बैठे थे. वहीं सीएम ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी व राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) के आयोजन के दौरान सरकार के आह्वान का जनता ने पूरी तरह साथ दिया है.

बता दें कि राजस्थान में पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच नेतृत्व को लेकर काफी समय से खींचतान चल रही है. इसी वजह से विपक्ष को लगा था कि यहां भी पंजाब की तरह कांग्रेस में फेरबदल हो सकता है. पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुख्यमंत्री पद से यह कहते हुए इस्तीफा दिया कि उन्हें कांग्रेस द्वारा अपमानित किया गया है. हालांकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत ने कहा कि पार्टी ने उन्हें हमेशा सम्मान दिया है.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it