Top
Begin typing your search...

राजस्थान कांग्रेस में बढ़ी हलचल! इन तीन मंत्रियों ने सोनिया गांधी को भेजा इस्तीफा, छोड़ेंगे मंत्री पद

राजस्थान की सियासत में एक बार फिर बड़ी हलचल देखने को मिल रही है.

राजस्थान कांग्रेस में बढ़ी हलचल! इन तीन मंत्रियों ने सोनिया गांधी को भेजा इस्तीफा, छोड़ेंगे मंत्री पद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

राजस्थान की सियासत में एक बार फिर बड़ी हलचल देखने को मिल रही है. गहलोत सरकार के तीन मंत्रियों ने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर इस्तीफे की पेशकश की है और कांग्रेस संगठन में काम करने की इच्छा जताई है.

राजस्थान में कैबिनेट विस्तार (Rajasthan Cabinet Reshuffle) से पहले तीन मंत्रियों का इस्तीफा हो गया है. तीनों के पास दोहरी ज़िम्मेदारी थी. इन तीन मंत्रियों में रघु शर्मा (Raghu Sharma), हरीश चौधरी (Harish Chowdhary) और गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) का नाम शामिल है. तीनों ने अपना इस्तीफा कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजा है. जयपुर एयरपोर्ट पर अजय माकन ने मीडिया को यह जानकारी दी है. अब माना जा रहा है कि 21 या 22 नवंबर को राजस्थान में मंत्रिमंडल पुनर्गठन हो सकता है. गौरतलब हो कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दो दिन पहले ही मंत्रिमंडल पुनर्गठन और मंत्रियों द्वारा एक ही पद पर काम करने की इच्छा के संकेत दिए थे.

अजय माकन ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि तीन मंत्रियों ने इस्तीफे की पेशकश की है. इन तीन मंत्रियों में रघु शर्मा, हरीश चौधरी और गोविंद डोटासरा का नाम शामिल है. तीनों ने संगठन में काम करने की इच्छा जताई है. मालूम हो कि कुछ दिन पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिले थे. रघु शर्मा गुजरात, हरीश चौधरी पंजाब और डोटासरा राजस्थान में ही जिम्मेदारी निभाएंगे.

मंत्रियों को पास दोहरी जिम्मेदारी

मालूम हो किगोविंद सिंह डोटासरा शिक्षा मंत्री के साथ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं. इसी तरह स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा गुजरात कांग्रेस के प्रभारी हैं. तो वहीं हरीश चौधरी पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हैं. अब तीनों की मंत्री पद से छुट्टी तय मानी जा रही थी. खुद गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा था कि संगठन में अधिक काम है. संगठन उनकी प्राथमिकता है.

राजस्थान में मंत्रिमंडल फेरबदल को लेकर एक सप्ताह पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की थी. इस दौरान सीएम गहलोत ने सिर्फ विस्तार चाहते थे. किसी मंत्री की छुट्टी नहीं, लेकिन सीएम गहलोत के मिलने के दूसरे दिन सोनिया गांधी से सचिन पायलट भी मिले. सचिन पायलट मंत्रिमंडल में फेरबदल और सत्ता और संगठन में दो पद वाले मंत्रियों की छुट्टी की मांग की थी.

21-22 नवंबर को हो सकता है मंत्रिमंडल विस्तार

सूत्रों के मुताबिक, गहलोत कैबिनेट का विस्तार 21 या 22 नवंबर को हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक 12 नए मंत्री शपथ ले सकते हैं. सचिन पायलट गुट के पांच विधयाक मंत्री बनाए जा सकते हैं. कुछ मंत्रियों के विभाग भी बदले जा सकते हैं. पायलट गुट की ओर से हेमाराम चौधरी, दीपेंद्र सिंह शेखावत, रमेश मीणा, बृजेंद्र ओला और मुरारी लाल मीणा के नाम मंत्री पद की दौड़ में शामिल हैं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it