Begin typing your search...

BCCI पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जानिए- सौरव गांगुली और जय शाह के पद पर बने रहने को लेकर क्या कहा

गांगुली और शाह ने अक्तूबर 2021 में अपना पद संभाला था. सितंबर में उनका कार्यकाल पूरा हो रहा है.

BCCI पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जानिए- सौरव गांगुली और जय शाह के पद पर बने रहने को लेकर क्या कहा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह को देश की सर्वोच्च अदालत से बड़ी राहत मिली है. दोनों ही आने वाले तीन साल तक बीसीसीआई में अपने पद पर बरकरार रह सकते हैं. बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई के संविधान में संशोधन से जुड़ी याचिका में यह फैसला सुनाया है. यानी बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह के कार्यकाल पर अभी कोई संकट नहीं है.

सुप्रीम कोर्ट द्वारा अपने फैसले में कहा गया है कि बीसीसीआई के एक कार्यकाल के बाद कूलिंग ऑफ पीरियड की ज़रूरत नहीं है, लेकिन दो कार्यकाल के बाद ऐसा करना होगा. सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साफ है कि सौरव गांगुली और जय शाह आने वाले तीन साल तक अपने पद पर बरकरार रह सकते हैं.

बीसीसीआई के संविधान के मुताबिक बीसीसीआई या किसी स्टेट बोर्ड में पद पर बैठे किसी भी सदस्य की दोबारा किसी पद पर नियुक्ति से पहले उसे तीन साल के 'कूलिंग ऑफ़' पीरियड से गुज़रना होता था. लेकिन नए प्रावधान के मुताबिक किसी भी सदस्य के लिए लगातार दो कार्यकाल में पद पर रहना संभव हो पाएगा.

यही वजह है कि सौरव गांगुली और जय शाह अपने मौजूदा पद पर तीन साल और रह पाएंगे. बीसीसीआई अध्यक्ष बनने से पहले गांगुली बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष थे और जय शाह गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन से जुड़े थे. गांगुली और शाह ने अक्तूबर 2021 में अपना पद संभाला था. सितंबर में उनका कार्यकाल पूरा हो रहा है.

Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it