Begin typing your search...

आज ही के दिन युवराज सिंह ने 6 गेंदों में लगाए थे 6 छक्के, युवराज ने बेटे को दिखाई वो यादगार पारी, 15 साल पुरानी याद की ताजा..

15 साल पूरे होने पर युवराज सिंह ने ट्वीटर पर ये वीडियो शेयर किया है.

आज ही के दिन युवराज सिंह ने 6 गेंदों में लगाए थे 6 छक्के, युवराज ने बेटे को दिखाई वो यादगार पारी, 15 साल पुरानी याद की ताजा..
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

साल 2007 के टी20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के बल्लेबाज युवराज सिंह ने आज ही के दिन (19 सितंबर) इंग्लैंड के खिलाफ एक ओवर में छह छक्के जड़ दिए थे. भले ही उस यादगार वाकये के 15 साल पूरे हो चुके हैं लेकिन यह क्षण भारतीय फैन्स कभी नहीं भूल सकते.

युवराज ने टी-20 वर्ल्ड कप 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ एक ओवर में 6 छक्के जड़कर इतिहास रचा था. 15 साल पूरे होने पर युवराज सिंह ने ट्वीटर पर ये वीडियो शेयर किया है. जिसमें वो अपने बच्चे के साथ इस लम्हें को टीवी में देख रहे है. उन्होंने लिखा कि 15 साल बाद इसे देखने के लिए इससे बेहतर साथी नहीं मिल सकता.

देखिए Video

उस दौरान हुआ क्या था?

दरअसल, 18वां ओवर जब एंड्र्यू फ्लिंटॉफ डालने आए तो युवजराज सिंह ने उनके ओवर में दो चौके लगाए थे। फ्लिंटॉफ को यह पसंद नहीं आया और वह युवराज सिंह जा भिड़े। इस दौरान दोनों खिलाड़ियों के बीच काफी बहस हुई और अंपायर समेत अन्य खिलाड़ियों को भी बीच बचाव के लिए आना पड़ा। युवराज सिंह इस घटना के बाद काफी गुस्से में थे। फ्लिंटॉफ की इस गलती की सजा अगले ओवर में स्टुअर्ट ब्रॉड को भुगतनी पड़ी। 19वां ओवर लेकर आए ब्रॉड की सभी 6 गेंदों पर युवराज ने मैदान के चारों और छक्के लगाए। इस तरह युवराज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक ओवर में 6 छक्के लगाने वाले पहले भारतीय और उस समय के दूसरे बल्लेबाज बने। युवजार से पहले यह कारनामा सिर्फ हर्षल गिब्स ने किया था।

युवराज ने खेली थी 16 गेंदों पर 58 रनों की धुआंधार पारी

युवराज सिंह ने इन 6 छक्कों की मदद से 16 गेंदों पर 58 रनों की धुआंधार पारी खेली थी, युवराज ने इस दौरान 12 गेंदों पर अर्धशतक जड़ रिकॉर्ड बनाया था जिसे आज तक कोई नहीं तोड़ पाया है। भारत ने इस मैच में 4 विकेट के नुकसान पर 218 रन बनाए थे और मुकाबले को 18 रनों से जीता था।

Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it