Begin typing your search...

तमिलनाडु में मां ने प्रेमी से अपने बेटी का कराया रेप, गर्भवती होने पर बेच देती थी अंडाणु

तमिलनाडु में मां ने प्रेमी से अपने बेटी का कराया रेप, गर्भवती होने पर बेच देती थी अंडाणु
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

इस कृत्य से महिला को मिलता था 20 हजार रूपए।

तमिलनाडु से शर्मनाक और हैरान करने वाली एक घटना सामने आई है। यहां एक मां अपनी ही नाबालिग बेटी का रेप करा रही थी। यह रेप कोई और नहीं बल्कि, इस कलयुगी मां का प्रेमी करता था। दोनों का मकसद था कि रेप करके बेटी को प्रेग्नेंट किया जाए। इसके बाद उसके एग को अस्पताल में बेचा जाए। इसके बदले जो पैसे मिलते, उनसे वे दाेनों ऐश करते। जानिए क्या है पूरी घटनापुलिस के अनुसार, घटना तमिलनाडु के सेलम जिले की है। यहां एक...

तमिलनाडु से शर्मनाक और हैरान करने वाली एक घटना सामने आई है। यहां एक मां अपनी ही नाबालिग बेटी का रेप करा रही थी। यह रेप कोई और नहीं बल्कि, इस कलयुगी मां का प्रेमी करता था। दोनों का मकसद था कि रेप करके बेटी को प्रेग्नेंट किया जाए। इसके बाद उसके एग को अस्पताल में बेचा जाए। इसके बदले जो पैसे मिलते, उनसे वे दाेनों ऐश करते।

जानिए क्या है पूरी घटना

पुलिस के अनुसार, घटना तमिलनाडु के सेलम जिले की है। यहां एक महिला का करीब दस साल पहले उसके पति से तलाक हो गया था। महिला अपनी नाबालिग बेटी के साथ अपने प्रेमी संग रही रही थी। वर्ष 2017 में उन्होंने एक घिनौना खेल शुरू किया। यह था अपनी बेटी के जिस्म और कोख का सौदा। महिला प्रेमी से अपनी नाबालिग बेटी का रेप कराती। जब बेटी गर्भवती हो जाती हो एक स्थानीय अस्पताल में उसके एग को बेच दिया जाता।

अब तक तीन गिरफ्तार, जांच अभी जारी

16 साल की इस पीड़ित नाबालिग लड़की ने एक दिन मौका पाकर पुलिस में इसकी शिकायत कर दी। शुरुआती जांच के बाद तमिलनाडु पुलिस ने मामला सही पाया और लड़की की मां, मां के प्रेमी और एक अन्य महिला को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, इस मामले की विस्तृत जांच की जा रही है। इसके पीछे पूरे नेटवर्क में जो लोग भी शामिल होंगे, सभी को गिरफ्तार किया जाएगा। 38 साल की इस महिला का नाम एस. इंद्राणी उर्फ सुमिया, जबकि उसके 40 वर्षीय प्रेमी का नाम ए. सईद अली है। जिन निजी अस्पतालों में यह खेल चल रहा था, वह तमिलनाडु के इरोड, पेरुंदुरुई, सेलम और होसुर जिले में हैं। इस पूरे मामले में 36 साल की एक अन्य महिला के. मलाथी दलाल की भूमिका में थी।

इस कृत्य से महिला और उसके प्रेमी को 20 हजार रुपए मिलते थे, पांच हजार रुपए कमीशन एक महिला रख लेती

पुलिस के मुताबिक, पीड़िता ने उन्हें बताया कि उसके माता-पिता करीब दस साल पहले अलग हो गए थे। मां उसे अपने साथ रखती। उनके साथ उनका प्रेमी भी रहता था। यही प्रेमी उसके साथ हमेशा रेप करता। यह सब मां की सहमति से होता था। पुलिस के अनुसार, पीड़िता ने अपनी शिकायत में कहा कि प्रेग्नेंट होने पर जब उसके एग अस्पताल को बेचे जाते, तो बदले में 20 हजार रुपए मिलते। इसमें पांच हजार रुपए एक महिला कमीशन के तौर पर रख लेती। बाकी पंद्रह हजार रुपए महिला और उसका प्रेमी रख लेते थे। ऐसा हर साल दो बार होता था। पुलिस के अनुसार, लड़की ने अपनी शिकायत में कहा कि 25 साल का लड़का जिसका नाम ए. जॉन है, उसने फर्जी आधार कार्ड बनाया, जिसमें उसका नाम बदल दिया और उसे बालिग बताने के लिए जन्मतिथि 1995 कर दी थी।


पुलिस के अनुसार, पीड़ित लड़की पिछले महीने मई में किसी तरह भागकर अपने दोस्त के घर पहुंच गई। वहां उसने पूरी बात बताई। दोस्त ने रिश्तेदारों के साथ मिलकर पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई। पुलिस इस मामले में मां, प्रेमी और एक अन्य महिला को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि जिस अस्पताल में यह पूरा कांड होता था और जिस डॉक्टर व स्टॉफ की इसमें मिलीभगत थी, उन सभी की पहचान की जा रही है। इस मामले में फर्जी आधार कार्ड और कुछ अन्य फर्जी दस्तावेज बनाए जाने का मामला भी सामने आया है।

Satyapal Singh Kaushik
Next Story
Share it