Begin typing your search...

5g सेवा भारत के इन 13 शहरों में लॉन्च होगी,जानिए वो शहर कौन-कौन से हैं

5G स्‍पेक्‍ट्रम नीलामी की प्रक्रिया पूरी हो गई है। करीब 1.50 लाख करोड़ रुपये के स्‍पेक्‍ट्रम आवंटित किए गए हैं। स्‍पेक्‍ट्रम हासिल करने के मामले में जियो सबसे आगे रही।

5g सेवा भारत के इन 13 शहरों में लॉन्च होगी,जानिए वो शहर कौन-कौन से हैं
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

भारत अगले तीन महीनों में 4G मोबाइल नेटवर्क से 5G मोबाइल नेटवर्क की ओर बढ़ सकता है। इस क्रांतिकारी कदम के साथ ही देश में हाई-स्‍पीड मोबाइल इंटरनेट सेवाओं की शुरुआत हो जाएगी। 5G स्‍पेक्‍ट्रम नीलामी की प्रक्रिया पूरी हो गई है। करीब 1.50 लाख करोड़ रुपये के स्‍पेक्‍ट्रम आवंटित किए गए हैं। स्‍पेक्‍ट्रम हासिल करने के मामले में जियो सबसे आगे रही। उसे करीब 87 हजार करोड़ रुपये की एयरवेव मिली हैं। एयरटेल और वोडा-आइडिया ने भी विभिन्‍न सर्कलों और फ्रीक्‍वेंसी में स्‍पेक्‍ट्रम हासिल किए हैं। टेलिकॉम मंत्री अश्विनी वैष्‍णव कह चुके हैं कि स्‍पेक्‍ट्रम आवंटन का काम 10 दिन में पूरा हो जाएगा और देशभर में अगले 3 साल में 5G नेटवर्क की बेहतर कनेक्टिविटी होगी। आइए जानते हैं किन शहरों में 5G सर्विस के सबसे पहले रोलआउट होने की उम्‍मीद है और सर्विस के लिए आपको कितना खर्च करना होगा।

इस सर्विस की शुरुआत सबसे पहले मेट्रो शहरों में होगी

5G नेटवर्क की शुरुआत सबसे पहले मेट्रो शहरों से हो सकती है। दूरसंचार विभाग बता चुका है कि देश में 13 शहरों से 5G सर्विस की शुरुआत होगी। इनमें दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, बंगलूरू, अहमदाबाद, गुरुग्राम, चंडीगढ़, गांधीनगर, हैदराबाद, जामनगर, पुणे और लखनऊ शामिल हैं।

प्रेस कांफ्रेंस में दूरसंचार मंत्री ने बताया

एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में दूरसंचार मंत्री ने कहा कि खरीदा गया स्पेक्ट्रम देश के सभी सर्कलों को कवर करने के लिए पर्याप्त है। उन्होंने कहा कि भारत का 5G कवरेज अगले तीन साल में 'बहुत अच्छा' होगा।

माना जा रहा है कि 5G सर्विस को किफायती दरों पर लॉन्‍च किया जाएगा। जियो कह रही है कि वह सबसे पहले इस नेटवर्क को देश में लॉन्‍च करेगी, लेकिन एयरटेल और वोडा-आइडिया भी पीछे नहीं हैं। 5G को लेकर हुए ट्रायल में तीनों ही कंपनियां शामिल हुई थीं और अपनी क्षमता का प्रदर्शन वह कर चुकी हैं। हाई-स्‍पीड 5G इंटरनेट के लिए मोबाइल यूजर्स को 4G के मुकाबले ज्‍यादा पैसे चुकाने पड़ सकते हैं। कंपनियां प्रीमियम चार्ज लागू कर सकती हैं। हालांकि कॉम्पिटिशन बढ़ने पर प्राइस वॉर छिड़ने का भी अनुमान है। दावा है कि 4G नेटवर्क के मुकाबले 5G में 10 गुना तेज स्‍पीड मिलेगी। इससे लोगों को इंटरनेट की बेहतरीन कनेक्टिविटी मिलेगी। माना जा रहा है कि 4G के मुकाबले 5G डेटा प्‍लान 15 से 20 फीसदी महंगे हो सकते हैं।

Satyapal Singh Kaushik
Next Story
Share it