लाइफ स्टाइल

Google ने 'सेल्फ ड्राइविंग' टेक्नोलॉजी पर किए 70 अरब रुपए खर्च

Vikas Kumar
18 Sep 2017 9:55 AM GMT
Google ने सेल्फ ड्राइविंग टेक्नोलॉजी पर किए 70 अरब रुपए खर्च
x

नई दिल्ली : टेक्नोलॉजी के मामले में Google हर दिन बड़ी-बड़ी कंपनियों को पीछे छोड़ते हुए तेज़ी से आगे बढ़ रहा है। इन दिनों गूगल अपने बड़े प्रोजेक्ट सेल्फ ड्राइविंग कार को लेकर भी चर्चा में है।

गूगल के फ्लैगशिप प्रोजेक्ट सेल्फ ड्राइविंग कार को लेकर एक बड़ी जानकारी सामने आई है। गूगल ने सेल्फ ड्राइविंग टेक्नोलॉजी पर 70 अरब रुपए खर्च किए। हालांकि गूगल ये जानकारी साझा करने से बचती रही है।

लेकिन गूगल के वेमो और उबर के बीच चल रही कानूनी लड़ाई के दस्तावेजों की समीक्षा से ये जानकारी सामने आई है कि गूगल ने इस सेल्फ ड्राइविंग सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर पर 1.1 अरब डॉलर से भी ज्यादा यानि 70 अरब रुपए की रकम खर्च किया है। ये जानकारी शॉन बानानजादेह के दिए गए बयान से मिली है, जो वेमो के वित्तीय विश्लेषक हैं।

दरअशल बानानजादेह उबर के खिलाफ वेमो के चल रहे मुकदमे में गवाही दे रहे हैं। इसमें वेमो ने दावा किया है कि उबर ने अपनी सेल्फ ड्राइविंग तकनीक विकसित करने के लिए गूगल की कंपनी के बौद्धिक संपदा और व्यापार रहस्यों को चुराया है। पिछले महीने उबर और गूगल के इस मुकदमे में अदालत ने अल्फाबेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी लैरी पेज को गवाही के लिए सम्मन भेजा था।

बता दें गूगल की कंपनी वेमो ने उबेर के खिलाफ साल 2017 की शुरूआत में मुकदमा दायर किया था और कहा था कि चुराई गई जानकारी के आधार पर ही कंपनी ने सेल्फ ड्राइविंग कार पर काम करना शुरू किया है।

Next Story