Begin typing your search...

YouTube लाया मोटी कमाई का नया प्लान, अब यहां से भी आएगा पैसा

YouTube लाया मोटी कमाई का नया प्लान, अब यहां से भी आएगा पैसा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

TikTok क्रिएटर्स को लुभाने के लिए आप अपने प्लेटफॉर्म पर लाने के लिए YouTube एक नया प्लान लेकर आया है, जिससे क्रिएटर्स की तगड़ी कमाई होगी। दरअसल, TikTok द्वारा शुरू किया गया शॉर्ट वर्टिकल वीडियो ट्रेंड विश्व स्तर पर इन-डिमांड वीडियो देखने के रुझानों में से एक बन गया है। निस्संदेह, टिकटॉक की लोकप्रियता तकनीकी दिग्गजों के लिए चिंता का विषय रही है। जहां Instagram कड़ी मेहनत कर रहा है और टिकटॉक को मात देने के लिए नए फीचर्स के साथ लगातार प्रयोग कर रहा है, वहीं गूगल के स्वामित्व वाले YouTube के पास अपने प्लेटफॉर्म -मोनेटाइजेशन पर कंटेंट क्रिएटर्स को लुभाने के लिए एक नया प्लान है। यूट्यूब जल्द ही पार्टनर प्रोग्राम को अपने शॉर्ट-फॉर्म वर्टिकल वीडियो फॉर्मेट, Shorts के लिए सक्षम करेगा, जिससे क्रिएटर्स तगड़ी कमाई कर सकेंगे।

YouTube Shorts में विज्ञापन ला रहा है

जी हां, विज्ञापन। खैर, विज्ञापन YouTube के प्रभुत्व का सबसे प्रमुख हिस्सा रहे हैं। जैसा कि द न्यूयॉर्क टाइम्स ने पहली बार रिपोर्ट किया था, अगले साल की शुरुआत में, शॉर्ट्स YouTube Partner Program में शामिल होंगे। इसलिए, क्रिएटर्स (हालांकि कुछ कंडीशन हैं जिन्हें पूरा करने की आवश्यकता है) प्रोग्राम में शामिल हो सकते हैं और अपने शॉर्ट्स का मोनेटाइज कर सकते हैं और एड रेवेन्यू का हिस्सा कमा सकते हैं।

तो एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया क्या हैं?

क्रिएटर्स को कम से कम 1,000 सब्सक्राइबर्स और साल भर में 4,000 वॉच आवर की जरूरत होगी। क्रिएटर्स प्रोग्राम के लिए तब भी क्वालिफाई कर सकते हैं यदि उनके पास पिछले 90 दिनों के भीतर शॉर्ट्स पर 10 मिलियन व्यूज हैं।

हालांकि, YouTube उन क्रिएटर्स के लिए पैसा कमाना आसान बना रहा है जो पार्टनर प्रोग्राम के मानदंडों को पूरा नहीं कर सके। भविष्य में, क्रिएटर्स "सुपर थैंक्स" के साथ पेड चैनल मेंबरशिप ऑफर कर सकेंगे, मर्चेंडाइज बेच सकेंगे और टिप्स प्राप्त कर सकेंगे। लेकिन, इन विकल्पों को अनलॉक करने के लिए कोई मिनिमम एलिजिबिलिटी होने पर कोई जानकारी अभी तक सामने नहीं आई है। इस साल की शुरुआत में, टिकटॉक ने भी क्रिएटर्स के लिए एड रेवेन्यू शेयरिंग करने की घोषणा की। वर्तमान में, यह कुछ क्रिएटर्स तक ही सीमित है, क्योंकि इसके लिए कम से कम 1,00,000 सब्सक्राइबर्स जरूरी हैं। टिकटॉक का कहना है कि वह क्रिएटर्स को उनके टिकटॉक पर विज्ञापनों से होने वाले राजस्व में 50 फीसदी की कटौती का भुगतान करेगा।

क्रिएटर्स को एड रेवेन्यू का 45 प्रतिशत मिलेगा

YouTube पर भुगतान के लिए, क्रिएटर्स को एड रेवेन्यू का 45 प्रतिशत मिलेगा जबकि YouTube बाकी को रखेगा - जो कि "लॉन्गफॉर्म" YouTube वीडियो के लिए है। यह अतिरिक्त 10 प्रतिशत किस लिए है? खैर, YouTube में क्रिएटर्स प्रोडक्ट्स के उपाध्यक्ष अमजद हनीफ बताते हैं कि इसका उपयोग म्यूजिक राइट्स के भुगतान के लिए किया जाएगा, इसलिए क्रिएटर्स जो भी म्यूजिक चाहते हैं उसका उपयोग कर सकते हैं।

साभार हिंदुस्तान

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it