Begin typing your search...

ज्ञानपावी मस्जिद के सर्वे पर पहली बार जानें क्या बोले अखिलेश यादव

ज्ञानपावी मस्जिद के सर्वे पर पहली बार जानें क्या बोले अखिलेश यादव
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे को भारतीय जनता पार्टी का प्रोपोगेंडा बताया है। उन्होंने कहा कि जनता का ध्यान भटकाने के लिए भारतीय जनता पार्टी थोड़े-थोड़े समय के अंतराल पर इस तरह के घटनाक्रम जानबूझकर करती है। इस तरह के घटनाक्रमों में या तो भारतीय जनता पार्टी खुद बेहद सक्रिय भूमिका में रहती है या तो भाजपा के अदृश्य मित्र होते हैं। विकास की झूठी बात करने वाली भाजपा की जमीनी हकीकत सामने आने लगी है।

अखिलेश यादव ने कहा कि देश तथा प्रदेश में भाजपा बुनियादी सवालों का जबाव नहीं देना चाहती। उन्होंने कहा कि बीते कई महीने से हर चीज महंगी होती चली जा रही है। ईंधन और खाद्य सुविधाएं महंगी हो रही हैं। भाजपा के पास बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी पर उनके पास जवाब नहीं है। देश के गरीब, किसान तथा नौजवान काफी परेशान हैं। लम्बे समय से सेना में भर्ती रोक दी गई है। भाजपा के शासन में ना तो किसान खुश है और ना ही जवान के चेहरे पर हंसी है।

भाजपा इस ओर ध्यान ना देकर जनता का ध्यान भटकाने में माहिर है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने आजमगढ़ में कहा कि वाराणसी का ज्ञानवापी मस्जिद का मामला हो या फिर धर्म के जुड़े अन्य प्रकरण, भाजपा जनता का ध्यान भटकाने में लगी रहती है। भाजपा तो कभी-कभी परदे के पीछे से भी काफी सक्रिय हो जाती है। किसी भी राज्य में चुनाव तक भाजपा कई तरह के ऐसे मामलों के कैलेंडर तैयार रखती है। भाजपा के पास समाज में नफरत के बीज बोने वाला कार्यक्रम हमेशा से ही तैयार रहता है।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it