Top
Begin typing your search...

अन्ना हजारे ने मंदिरों को फिर से नहीं खोलने को लेकर उद्धव सरकार पर उठाए सवाल

अन्ना हजारे ने कहा, राज्य सरकार मंदिर क्यों नहीं खोल रही है? लोगों के लिए मंदिर खोलने में राज्य सरकार को क्या खतरा दिखता है?

अन्ना हजारे ने मंदिरों को फिर से नहीं खोलने को लेकर उद्धव सरकार पर उठाए सवाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: जाने माने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे काफी दिनों बाद एक बार फिर एक्टिव नजर आ रहे है.महाराष्ट्र में मंदिरों को फिर से नहीं खोलने को लेकर उद्धव सरकार पर अन्ना हजारे ने सवाल खड़े किये है. उन्होंने कहा है कि अगर मंदिरों पर से प्रतिबंध हटाने के लिए आंदोलन किया जाता है तो वह उसे अपना समर्थन देंगे.साथ ही उन्होंने शराब की दुकानों के बाहर लगी 'लंबी कतार' की ओर इशारा करते हुए सरकार पर कटाक्ष भी किया.

अहमदनगर जिले के रालेगण सिद्धि गांव में शनिवार को हजारे ने कहा कि मंदिरों को फिर से खोलने की मांग करने वाले कुछ लोगों के एक प्रतिनिधिमंडल ने उनसे मुलाकात की थी. उन्होंने कहा, "राज्य सरकार मंदिर क्यों नहीं खोल रही है? लोगों के लिए मंदिर खोलने में राज्य सरकार को क्या खतरा दिखता है? अगर कोविड कारण है,तो फिर शराब की दुकानों के बाहर बड़ी कतारें क्यों हैं."

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार ने कोरोना वायरस की स्थिति में सुधार को देखते हुए कई क्षेत्रों को फिर से खोल दिया और पूरी तरह से टीका लगाने वाले लोगों को मुंबई में लोकल ट्रेनों में यात्रा करने की अनुमति दी गई है. हालांकि, राज्य सरकार अभी भी कोरोना वायरस के प्रसार के डर से धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने से कतरा रही है, खासकर जब महामारी की तीसरी लहर का अनुमान लगाया जा रहा है. विशेष रूप से, विपक्षी बीजेपी मांग करती रही है कि लोगों के लिए मंदिर फिर से खोले जाएं.




RUDRA PRATAP DUBEY
Next Story
Share it