Begin typing your search...

श्रद्धा का ये चैट आया सामने, आफताब की दरिंदगी का एक और घिनौना सच आया सामने जिसने भी पढ़ी वहीं फूट फूट कर रोया

श्रद्धा का ये चैट आया सामने, आफताब की दरिंदगी का एक और घिनौना सच आया सामने जिसने भी पढ़ी वहीं फूट फूट कर रोया
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

श्रद्धा का बेरहमी से किया गया कत्ल और फिर उसकी लाश के साथ की गई दरिंदगी का मामला सुर्खियों में बना हुआ है. श्रद्धा के हत्यारोपी उसके लिव इन पार्टनर आफताब की हकीकत ने सभी को हिला कर रख दिया है. इस घिनौने हत्याकांड में अब नया खुलासा हुआ है. श्रद्धा की एक और चैट सामने आई है जिसमें वह अपने किसी दोस्त से आफताब की दरिंदगी बयां की है.

श्रद्धा ने दोस्त से की थी चैट

श्रद्धा ने 24 नवंबर 2020 को अपने किसी दोस्त से चैट की थी. इस चैट में श्रद्धा की बेबसी और मायूसी साफ झलक रही है. श्रद्धा ने चैट में अपने दोस्त को बताया था कि आफताब जल्द ही उसका घर छोड़ देगा. इस चैट में श्रद्धा ने आफताब की बेरहमी बयां करते हुए लिखा था कि उसने (आफताब) मुझे इस कदर मारा है कि मैं बिस्तर से उठ नहीं सकती.

आफताब की दरिंदगी आई सामने

श्रद्धा ने आगे लिखा कि कल उसके माता-पिता के घर जाने के बाद सबकुछ ठीक हो गया था. वह आज जा रहा है. लेकिन मैं आज नहीं जा रही हूं. क्योंकि उसने मुझे बेरहमी से पीटा था. मेरा ब्लड प्रेशन लो है. मेरी बॉडी पर जख्म के निशान हैं. शरीर में इतनी ताकत नहीं है कि मैं बेड से उठ सकूं. मैं चाहती हूं कि वह यहां से चला जाए. मेरी वजह से जो भी दिक्कत हुई और काम प्रभावित होने के लिए माफी मांगती हूं.


FSL शुरू करेगी जांच

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने अभी तक बरामद हड्डियां और लाश के टुकड़ो को FSL को नही भेजा है. एफएसएल के अधिकारियों के मुताबिक जब आफताब की रिमांड खत्म हो जाएगी तब जांच अधिकारी इन चीजों को FSL के दफ्तर में फोरेंसिक जांच के लिए जमा कराएंगे. उसके बाद ही FSL अपनी जांच शुरू करेगी.

नार्को टेस्ट को लेकर आई ये खबर

सूत्रों के मुताबिक FSL रोहिणी में भी अब नार्को टेस्ट करने की सुविधा है. लेकिन अभी तक पुलिस की तरफ से आफताब का नार्को कराने के लिए उनसे संपर्क नहीं किया गया है. क्योंकि नार्को टेस्ट करने में करीब 3 हफ़्तों का समय लगता है इसलिए FSL के अधिकारियों को लगता है कि रिमांड खत्म होने के बाद जब आफ़ताब न्यायिक हिरासत में चला जाएगा उसके बाद ही उसका नार्को टेस्ट करवाया जाएगा.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it