Begin typing your search...

सीतापुर जेल में आजम खां की बैरक की डीएम, एसपी के साथ जेल प्रशासन ने ली तलाशी

सीतापुर जेल में आजम खां की बैरक की डीएम, एसपी के साथ जेल प्रशासन ने ली तलाशी
X

जेल से छापेमारी के बाद बाहर निकलते पुलिस अधीक्षक व जिलाधिकारी

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

सीतापुर के जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने शनिवार को जिला जेल में छापा मारा तो हड़कंप मच गया। अफसरों के नेतृत्व में पुलिस की अलग-अलग टीमों ने करीब एक घंटे तक बंदियों की तलाशी ली और बैरकों को खंगाला। इस दौरान जेल में बंद सपा विधायक आजम खां की भी बैरक खंगाली गई।

बतादें कि जब डीएम अनुज सिंह, एसपी आरपी सिंह जेल गेट पर पहुंचे जेल महकमे में हड़कंप मच गया। डीएम-एसपी पूरे लाव लश्कर के साथ जेल के अंदर दाखिल हुए। अंदर पहुंचते ही उन्होंने पुलिस की सात टीमों का गठन किया जिसमें कुछ प्रशासनिक अफसर भी शामिल थे। सभी टीमों ने जेल की एक-एक बैरक की तलाशी ली। सभी बंदियों की तलाशी ली गई।

इस दौरान जेल की तन्हाई बैरक में बंद चल रहे सपा विधायक आजम खां की भी बैरक को भी खंगाला गया। आजम खां पिछले 26 महीनों से सीतापुर की जेल में बंद हैं। उन पर 87 मामले थे। जेल के जानकारों के अनुसार, 86 मामलों में जमानत हो चुकी है। एक मामला फंसा है। उसी में जमानत होना बाकी है। करीब एक घंटे तक जेल में तलाशी अभियान चलाया गया। वहीं, डीएम-एसपी ने जेल के भोजनालय व अस्पताल का बारीकी से निरीक्षण किया।

डीएम-एसपी ने जेल अधीक्षक को व्यवस्थाएं चुस्त-दुरुस्त रखने के आदेश दिए। कहा कि कहीं भी कोई गड़बड़ी न हो। सुरक्षा-व्यवस्था भी चाक-चौबंद रहे। कैदियों और बंदियों की गतिविधियों पर पैनी नजर रखें। बंदियों को बेहतर खाना दिया जाए। सफाई व्यवस्था बेहतर रखी जाए।

जेल की सफाई से खुश हुए डीएम

जेल अधीक्षक सुरेश सिंह ने बताया कि डीएम-एसपी ने करीब एक घंटे तक बैरकों और बंदियों की तलाशी कराई। ये रूटीन छापा था। हर माह होता है। जेल में बंद आजम खां की भी बैरक की तलाशी ली गई है। बताया कि पुलिस की टीमें बनाकर तलाशी कराई गई। कहीं कोई गड़बड़ी और समस्या नहीं मिली है। डीएम ने जेल की सफाई व्यवस्था को देखकर खुशी जताई।


सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it