Top
Begin typing your search...

Top News: प्याज खाने से 650 लोगों बीमार, क्या किसी नई बीमारी ने इस देश में दी दस्तक?

Top News: प्याज खाने से 650 लोगों बीमार, क्या किसी नई बीमारी ने इस देश में दी दस्तक?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

संयुक्त राज्य अमेरिका में प्याज खाने के कारण 650 लोगों के बीमार होने की खबर सामने आई है. ये 650 लोग 37 राज्यों से हैं. जिसके बाद रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र ने लोगों को सलाह दी है कि किसी भी पूरे लाल, सफेद और पीले प्याज को फेंक दें, जिसमें स्टिकर या पैकेजिंग नहीं है। बता दें अमेरिका में सैल्मोनेला बैक्टीरिया के केस सामने आए हैं. अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि बीमारी का प्रकोप मेक्सिको में चिहुआहुआ से आयात किए गए प्याज से पता चला है और प्रोसोर्स इंक द्वारा पूरे संयुक्त राज्य में बांटा गया है।

सीडीसी ने एक बयान में कहा, 'बीमार लोगों के साथ साक्षात्कार से पता चलता है कि 75% लोगों ने बीमार होने से पहले कच्चा प्याज या संभवत कच्चा प्याज खाया. अब तक संक्रमण से कम से कम 129 लोग अस्पताल में भर्ती हो चुके हैं. हालांकि, कोई मौत नहीं हुई है.' ज्यादातर मामले अगस्त और सितंबर में और बड़े पैमाने पर टेक्सास और ओक्लाहोमा से सामने आए थे. कंपनी ने स्वास्थ्य अधिकारियों को यह भी सूचित किया है कि क्योंकि प्याज को महीनों तक संग्रहीत किया जा सकता है, यह अभी भी घरों और व्यवसायों में हो सकता है. नतीजतन, उपभोक्ताओं को सलाह दी गई है कि वे चिहुआहुआ से आयातित और प्रोसोर्स द्वारा बांटे गए ताजा लाल, सफेद या पीले प्याज से बचें।

साल्मोनेलोसिस या साल्मोनेला संक्रमण बैक्टीरिया के साल्मोनेला समूह के कारण होने वाला एक बैक्टीरियल रोग है जो आमतौर पर गैस्ट्रोनॉमिकल बीमारियों का कारण बनता है.इस बैक्टीरिया की वजह से जब आप बीमार होते हैं तो आपको डायरिया, बुखार और पेट में दर्द जैसे लक्षण दिखाई देते हैं. इसके लक्षण 6 घंटे से लेकर 6 दिन में कभी भी दिख सकते हैं. सैल्मोनेला बैक्टीरिया की वजह से ज्यादातर संक्रमण के मामले 5 साल से अधिक उम्र के बच्चे या 65 साल से अधिक आयु वाले बुजुर्ग में दिखते हैं.बता दें पिछले साल अमेरिका में प्याज से पहला संक्रमण 19 जून को सामने आए थे.वहीं थॉमसन इंटरनेशनल ने इसपर सफाई देते हुए कहा था कि उन्हें पता चला है कि उनके द्वारा सप्लाई किये गए लाल प्याज से ये बीमारी फ़ैल रही है. ऐसे में उन्होंने अभी तक जिन दुकानों में इसकी सप्लाई की है, वहां से इसे वापस मंगवाया जा रहा है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it