Top
Begin typing your search...

Big News : त्रिशूल पर्वत फतह करने गए 4 जवानों के शव मिले एक अभी भी लापता

त्रिशूल पर्वत फतह करने गए 4 जवानों के शवों को आज निम और सेना के संयुक्त रेस्कयू अभियान के बाद बरामद कर बेस कैंप लाया गया

Big News : त्रिशूल पर्वत फतह करने गए 4 जवानों के शव मिले एक अभी भी लापता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

त्रिशूल पर्वत फतह करने गए 4 जवानों के शवों को आज निम और सेना के संयुक्त रेस्कयू अभियान के बाद बरामद कर बेस कैंप लाया गया है।

जिसमे लेफ्टिनेंट कमांडर रजनीकांत यादव, लेफ्टिनेंट कमांडर योगेश तिवारी, लेफ्टिनेंट कमांडर अनंत कुकरेती और एमसीपीओ हरिओम शामिल हैं।

टीम के बाकी सदस्यों की खोजबीन के लिए रेस्कयू अभियान जारी है।कल जवानों के पार्थिव शरीर को हेलीकॉप्टर के जरिये नेवी सेंटर के बाद उनके घरों के लिए भेज दिया जाएगा।

क्या था मामला

माउंट त्रिशूल फतह करने के दौरान एवलॉन्च आने से वायुसेना का पर्वतारोही दल उसकी चपेट में आ गया है , 10 पर्वतारोही लापता बताए जा रहे हैं,नेहरू पर्वतरोहण संस्थान से रेस्क्यू टीम प्रधानाचार्य कर्नल अमित बिष्ट के नेतृत्व में चमोली जनपद से त्रिशूल चोटी के लिए रवाना हुई है.

माउन्ट त्रिशूल के लिए ये दल चमोली के घाट क्षेत्र से रवाना हुआ था, घाट क्षेत्र से दो हफ्ते पहले वायुसेना के पर्वतारोहियों का ये दल माउंट त्रिशूल को फतह करने निकला था.

यह घटना शुक्रवार सुबह पांच बजे के करीब हुई है,

वायुसेना के 10 पर्वतारोही हिमस्खलन की चपेट में आए हैं और लापता चल रहे हैं,

वायुसेना का दल करीब 15 दिन पहले 7,120 मीटर ऊंची त्रिशूल चोटी को फतह करने के लिए निकला था.,

शुक्रवार सुबह दल चोटी पर चढ़ने के लिए आगे बढ़ा. इसी दौरान एवलॉन्च आया.

एवलॉन्च की चपेट में वायुसेना के पर्वतारोही आए हैं,

उत्तरकाशी से हेलीकॉप्टर के जरिये निम की सर्च एंड रेस्क्यू टीम लापता पर्वतारोहियों की खोज के लिए रवाना हो गई है,

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it