Top
Begin typing your search...

बड़ी खबर: डीएसपी हीरालाल सैनी के साथ स्विमिंग पूल में रंगरैली मनाने वाली महिला पुलिसकर्मी गिरफ्तार

एसओजी ने महिला पुलिसकर्मी राजेश कुमारी को कालवाड़ में मौसा के घर से दबोचा ,अभी और होगी गिरफ्तारियां

बड़ी खबर: डीएसपी हीरालाल सैनी के साथ स्विमिंग पूल में रंगरैली मनाने वाली महिला पुलिसकर्मी गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

ब्यावर के डीएसपी हीरालाल सैनी के साथ स्विमिंग पूल में रंगरैली मनाने वाली महिला पुलिसकर्मी को आज दोपहर 3 बजे कालवाड़ थाना क्षेत्र अंतर्गत एक मकान से एसओजी की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है । राजेश कुमारी अपने मौसा के घर पर छिपी हुई थी । मजिस्ट्रेट ने 17 सितम्बर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है । सैनी पहले ही गिरफ्तार हो चुका है ।

भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार अभी इस प्रकरण में कई और भी गिरफ्तारी और निलम्बन हो सकते है। जहां तक पूछताछ का सवाल है, चितावा थाना प्रभारी और एएसपी को भी पूछताछ के लिए एसओजी तलब कर सकती है । नागौर के एसपी ने दो जनों का जवाब तलब किया है जबकि क्राइम असिस्टेंट को राजस्थान सेवा नियम की धारा 17 सीसीए के अंतर्गत आरोप पत्र जारी किया है। अभी तक किसी की ओर से जवाब प्राप्त नही हुआ है।

एसओजी की टीम राजेश कुमारी से पूछताछ करेगी कि वीडियो किसने और क्यो बनाया । वीडियो बनाने का मुख्य उद्देशय क्या था और व्हाट्सएप्प पर डालने के पीछे आखिर मंशा क्या थी । यह भी पूछताछ होगी कि राजेश कुमारी के कितने और मर्दो से शारीरिक संबंध थे । हीरालाल सैनी से अब तक कितने रुपये ऐंठे जा चुके है, इसकी भी पड़ताल होगी ।

जानकारी यह भी मिली है कि इस खेल में राजेश कुमारी के पति खेमाराम की भूमिका भी संदिग्ध मानी जा रही है । पहले उसने एसपी, नागौर को पत्र के जरिये लिखित शिकायत भिजवाई । बाद में उसने कहाकि वह अब आगे की कार्रवाई नही चाहता है और उसका समझौता हो चुका है ।

एसओजी पूछताछ के लिए खेमाराम तथा इस प्रकरण से जुड़े अहम किरदारों से शीघ्र पूछताछ के लिए बुलाने वाली है । पुलिस का एक आला अफसर भी इस प्रकरण से जुड़ा हुआ है जिसने खेमाराम को एफआईआर का ड्राफ्ट तैयार करके दिया था । इस शिकायती पत्र में कानून की धारा, नियम, उप नियम और परिपत्रों का विस्तार से उल्लेख है ।

इस पूरे प्रकरण की अपडेट सीएमआर को अवगत कराया जा रहा है । मीडिया के अनुसार हीरालाल को सीएमओ में तैनात एक अधिकारी का खुला संरक्षण हासिल है । इसके अलावा बीजेपी राज में हीरालाल कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी का बहुत ही निकटतम था । उसी की सिफारिश पर हीरालाल को ब्यावर में तैनात किया गया था । प्लॉट, मकान के अलावा हीरालाल ने बेनामी कई खान भी ले रखी है ।

महेश झालानी
Next Story
Share it