Begin typing your search...

Noida News : जानिए क्या होता है डिजिटल रेप, जिसके आरोप में गिरफ्तार हुआ 80 साल का चित्रकार

'डिजिटल रेप' की पीड़िता ने पुलिस को बताया कि जब वह दस साल की थी, तभी से आरोपी उसका यौन शोषण कर रहा था और विरोध करने पर मारपीट करता था।

Noida News : जानिए क्या होता है डिजिटल रेप, जिसके आरोप में गिरफ्तार हुआ 80 साल का चित्रकार
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

दिल्ली से सटे नोएडा में 80 वर्षीय चित्रकार को नाबालिग के साथ कथित 'डिजिटल रेप' (Digital Rape) के आरोप में रविवार को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने कहा कि आरोपी बुजुर्ग 17 वर्षीय पीड़िता के साथ उसके अभिभावक के रूप में रह रहा था और सात साल से अधिक से उसका यौन शोषण कर रहा था। आरोपी के खिलाफ धारा 376, 323, 506 और पोक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। पुलिस सबूत एकत्र कर रही है और इन्हें एकत्र कर अदालत में पेश करने की तैयारी में लग गई है ताकि आरोपी को सख्त से सख्त सजा दी जा सके।

घरेलू सहायिका का कहना है कि प्रयागराज का मौरिस राइडर उसके साथ 10 वर्ष की उम्र से ही डिजिटल यौन शोषण कर रहा है। मना करने पर जान से मारने की धमकी देता है। पॉस्को एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। आरोपी मौरिस राइडर एक महिला मित्र के साथ नोएडा के सेक्टर 46 में रहता है। उसके साथ 17 वर्षीय सहायिका भी रहती है।

घरेलू सहायिका शिमला स्थित उसकी वर्कशॉप में काम करने वाले वर्कर की बेटी है। उसे वह अपने साथ पढ़ाने-लिखाने का लालच देकर 10 साल की उम्र से ही लाया था। तभी से वह उसका डिजिटल यौन शोषण कर रहा है। इंटरनेट से अश्लील फिल्में दिखाकर वह उसके कोमलांगों से छेड़छाड़ करता था। मना करने पर जान से मारने की धमकी देता था और पीटता था। खाना भी नहीं देता था।

17 वर्षीय घरेलू सहायिका ने नोएडा पुलिस को बताया कि राइडर पिछले सात साल से उसका यौन शोषण कर रहा है। वह डर के मारे किसी से शिकायत नहीं कर पाई। इधर, जब वह यौन शोषण की सारी हदें पार कर गया, तो उसे पुलिस की शरण लेनी पड़ी। पीड़िता ने पुलिस को ऑडियो और वीडियो रिकॉर्डिंग भी सौंपी है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसकी बात पर लोग विश्वास कर सकें, इसलिए उसे चित्रकार की नापाक हरकतों की वीडियो और ऑडियो रिकार्डिंग करनी पड़ी।

इसके बाद पीड़िता की तहरीर पर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। पीड़िता का पुलिस ने मेडिकल कराया है, जिसमें यौन शोषण की बात साबित हुई है। सेक्टर 39 प्रभारी राजीव बलियान का कहना है कि आरोपी मौरिस राइडर मानसिक रूप से विकृत लगता है। फिलहाल उसके खिलाफ पाक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

मौरिस राइडर 22 साल पहले प्रयागराज से दिल्ली चला गया था। उसने हिंदू धर्म छोड़कर क्रिश्चियन धर्म स्वीकार कर लिया था। सन 2000 में वह पत्नी के रहते दिल्ली की एक महिला को अपने घर ले आया। इससे पति और पत्नी के बीच लड़ाई हुई और उसकी पत्नी अपने बच्चों को लेकर प्रयागराज चली आई। वह म्यौराबाद में अपने बच्चों के साथ रहती हैं। इधर, मौरिस राइडर ने दिल्ली की महिला को अपने साथ रख लिया।

यह है डिजिटल रेप

प्राइवेट पार्ट के साथ उंगली से छेड़खानी करने को डिजिटल रेप कहा जाता है। यह पश्चिमी देशों में काफी समय से प्रचलित है। डिजिटल रेप का मतलब यह नहीं है कि किसी लड़की या लड़के का शोषण इंटरनेट के माध्यम से किया जाए। यह शब्द दो शब्द डिजिट और रेप से मिलकर बना है। अंग्रेजी के डिजिट का मतलब अंक भी होता है और इसका दूसरा अर्थ अंगुली, अंगूठा, पैर की अंगुली भी होता है। डिजिटल रेप में भी बेहद सख्त सजा का प्रावधान है। अब भारत में भी इस शब्द का प्रयोग होने लगा है।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it