Begin typing your search...

दिल दहल जायेगा: मौत के बाद एंबुलेंस में शव छोड़कर पति फरार, वाहन में मां को निहार कर रोता रहा पुत्र

दिल दहल जायेगा: मौत के बाद एंबुलेंस में शव छोड़कर पति फरार, वाहन में मां को निहार कर रोता रहा पुत्र
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

झारखंड के गढ़वा थाना क्षेत्र के तिलदाग गांव सनसनीखेज कह लो या मानवता को शर्मसार करने वाली बात एक ऐसी घटना रविवार को सामने आई है कि सुनकर दिल दहल जायेगा क्यों एक पुत्र अपनी मां की मौत हो जाने के बाद भी शव को देख कर रोता रहा, बतादें कि गढ़वा थाना क्षेत्र के तिलदाग गांव निवासी अरुण शर्मा की 35 वर्षीय पत्नी रिंकी देवी की संदेहास्पद परिस्थिति में मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार अरुण शर्मा का परिवार गढ़वा शहर के चिनियां रोड स्थित नहर चौक में किराये के मकान में रहता है। अरुण शर्मा के अनुसार रिंकी देवी मामूली नोंकझोंक के बाद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जबकि मृतका के 12 वर्षीय पुत्र सूरज कुमार शर्मा की मानें तो रिंकी देवी व अरुण शर्मा में झगड़ा हुआ था। इसके बाद रिंकी देवी ने खुदकुशी कर ली।

बताया गया कि दंपती के बीच अक्सर झगड़ा होता था। रविवार की देर रात फंदे से रिंकी देवी को उतार कर अरुण शर्मा और उसका पुत्र सूरज कुमार शर्मा अपनी मोटरसाइकिल पर लेकर गढ़वा सदर अस्पताल पहुंचे। गढ़वा सदर अस्पताल की इमरजेंसी सेवा में मौजूद चिकित्सक ने परीक्षण कर रिंकी देवी को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद अरुण कुमार शर्मा ने रिंकी देवी को मृत मानने से इन्कार करते हुए उसे जीवित बताकर बेहतर इलाज कराने के लिए मेदिनीनगर ले जाने की बात की।

दरअसल वह इसी बहाने वहां से भागने का प्रयास किया। उसने अपना असली पता छुपाने का भी प्रयास किया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, अरुण कुमार शर्मा ने एक निजी एंबुलेंस वाले से मेदिनीनगर चलने की बात की तथा अकेला ही रिंकी देवी के शव को उठाकर एंबुलेस में लाद दिया। लेकिन गढ़वा सदर अस्पताल गेट तक आने के बाद अरुण कुमार शर्मा ने अपने पुत्र सूरज कुमार शर्मा को भी एंबुलेंस में बैठा दिया। इसके बाद स्वयं मोटरसाइकिल को किराये के मकान में रखकर आने की बात कहकर वहां से निकल गया।

बताया गया कि जब अरुण कुमार शर्मा के जाने के बाद करीब डेढ़ घंटे तक एंबुलेंस में ही शव पड़ा रहा। पिता के नहीं आने पर सूरज कुमार शर्मा रोने लगा। अस्पताल के कर्मचारियों ने उससे बात की तो रिंकी देवी का असली पता और पति प्रताड़ना से मौत होने की हकीकत सबके सामने आई।

इधर, रिंकी देवी की मौत की सूचना पर गढ़वा थाना पुलिस ने सदर अस्पताल पहुंचकर शव को अपने कब्जे में ले लिया है। पुलिस शव का पोस्टमार्टम कराने तथा मामले की छानबीन में जुट गई है। आज सोमवार को शव का पोस्टमार्टम होगा। पुलिस ने कहा है कि आरोपित अरुण कुमार शर्मा जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it