Top
Begin typing your search...

खदान की खुदाई के दौरान मजदूरों को मिला 40 लाख का हीरा

मजदूरों को 15 साल के इंतजार के बाद 8.22 कैरेट का हीरा मिला है

खदान की खुदाई के दौरान मजदूरों को मिला 40 लाख का हीरा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मध्य प्रदेश के पन्ना जिले की एक खदान में काम करने वाले 4 मजदूरों के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है.दरअसल, मजदूरों को 15 साल के इंतजार के बाद 8.22 कैरेट का हीरा मिला है। स्थानीय विशेषज्ञों का कहना है कि हीरे की कीमत 40 लाख रुपये तक हो सकती है और अधिकारियों के अनुसार, ऐसे कच्चे हीरों की नीलामी से होने वाली आय सरकारी रॉयल्टी और करों की कटौती के बाद संबंधित खनिकों को दी जाएगी।

पन्ना कलेक्टर संजय कुमार मिश्रा ने संवाददाताओं को बताया कि रतनलाल प्रजापति और उनके सहयोगियों ने जिले के हीरापुर तपरिया इलाके में पट्टे पर दी गई जमीन से 8.22 कैरेट का हीरा निकाला और उसे हीरा कार्यालय में जमा कर दिया। उन्होंने कहा कि हीरे को अन्य रत्नों के साथ 21 सितंबर को नीलामी के लिए रखा जाएगा।

रत्नलाल प्रजापति के सहयोगियों में से एक रघुवीर प्रजापति ने सरकारी कार्यालय में कीमती पत्थर जमा करने के बाद संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने हीरे खोजने के लिए पिछले 15 साल विभिन्न खदानों में उत्खनन में बिताए हैं, लेकिन उन्हें पहली बार सफलता मिली है।

उन्होंने कहा हमने पिछले 15 वर्षों से विभिन्न क्षेत्रों में छोटी खदानें लीज पर लीं, लेकिन एक भी हीरा नहीं मिला। इस साल, हम पिछले छह महीनों से हीरापुर तपरिया में एक पट्टे की जमीन पर खनन कर रहे हैं और 8.22 कैरेट वजन का हीरा पाकर हैरान हैं। खनिक ने कहा कि वह और उसके साथी हीरे की नीलामी से प्राप्त धन का उपयोग अपने बच्चों को बेहतर जीवन और शिक्षा प्रदान करने के लिए करेंगे।


RUDRA PRATAP DUBEY
Next Story
Share it