Begin typing your search...

चुनाव आयोग का अब्बास अंसारी को बड़ा झटका, क्या होगा अब मऊ विधानसभा का भविष्य?

अफसरों को धमकाना अब्बास अंसारी को पड़ा महंगा

चुनाव आयोग का अब्बास अंसारी को बड़ा झटका, क्या होगा अब मऊ विधानसभा का भविष्य?
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मऊ: उत्तर प्रदेश (UP Chunav) की मऊ सदर विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी गठबंधन के प्रत्याशी और बाहुबली मुख्तार अंसारी (mukhtar ansari) के बेटे अब्बास अंसारी (abbas ansari) अपने एक बयान को लेकर मुसीबत में फंस गए हैं. सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में अफसरों को खुलेआम धमकी देने वाले मऊ सदर सीट से सुभासपा उम्मीदवार अब्बास अंसारी पर चुनाव आयोग ने एक्शन लिया है. चुनाव आयोग की तरफ से अब्बास अंसारी पर 24 घंटे के लिए किसी भी तरह की राजनीतिक गतिविधियों में भागीदारी और प्रचार प्रसार पर रोक लगा दी गई है.

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे और सुभाषपा कैंडिडेट अब्बास अंसारी पर यह बैन आज यानी शुक्रवार की शाम सात बजे से लागू हो गई है, जो अगले 24 घंटे तक रहेगी. यानी अब्बास अंसारी अगले 24 घंटे तक चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगे. चुनाव आयोग ने इस संबंध में एक आदेश जारी किया है, जिसके मुताबिक, मऊ विधानसभा क्षेत्र से सुभासपा प्रत्याशी अब्बास अंसारी ने जनसभा के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन किया है. आयोग ने वीडियो में पाया है कि यह निर्वाचन के लिए बने नियमों का उलंघन है. बता दें कि इस आदेश में दर्ज एफआईआर का भी जिक्र है.

दरअसल, बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह कहते दिखते हैं, 'समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्ययक्ष अखिलेश यादव जी से कहकर आया हूं कि छह महीने तक किसी की ट्रांसफर-पोस्टिंग नहीं होगी भइया. जो यहां है, यहीं रहेगा, पहले हिसाब किताब होगा. उसके बाद उनके जाने के सर्टिफिकेट पर मुहर लगाया जाएगा.' बता दें कि चुनाव आयोग के आदेश में इस वीडियो का ट्रासक्रिप्ट भी दिया गया है.

वीडियो सामने आने के बाद अब्बास अंसारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई थी. मऊ पुलिस ने ट्वीट करके बताया,' प्रत्याशी अब्बास अंसारी के वायरल विडियों के सम्बन्ध में थाना कोतवाली पर आचार संहिता के उलंघन के सम्बन्ध में धारा 171च,506 भादावि0 का अभियोग पंजीकृत किया गया है तथा इस सम्बन्ध में निवार्चन अधिकारी (RO) 356-मऊ सदर, मऊ को अग्रिम कार्यवाही हतु रिपोर्ट दी गयी है.'

बता दें कि उत्तर प्रदेश में अब आखिरी चरण का मतदान बाकी है. मऊ में अंतिम चरण में 7 मार्च यानी सोमवार को वोटिंग है और शनिवार की शाम को चुनावी शोर थम जाएगा. इस तरह से अब अब्बास अंसारी वोटिंग से ठीक पहले अपने लिए प्रचार-प्रसार नहीं कर पाएंगे. इस तरह से देखा जाए तो अब्बास अंसारी को वोटिंग से पहले निर्णायक स्थिति में चुनाव आयोग से बड़ा झटका लगा है.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it