Begin typing your search...

फर्रुखाबाद का बदल सकता है नाम, सांसद ने सीएम योगी को लिखा पत्र, जानें- क्या दिया सुझाव में नाम?

फर्रुखाबाद का बदल सकता है नाम, सांसद ने सीएम योगी को लिखा पत्र, जानें- क्या दिया सुझाव में नाम?
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार आने के बाद से नाम बदलने की प्रथा देखी गई है. चाहे शहर की बात हो या किसी जगह की, योगी सरकार ने नाम बदलने में कोई हिचक नहीं दिखाई, ऐसे में अब भाजपा सांसद मुकेश राजपूत ने फर्रुखाबाद का नाम पांचाल नगर करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है।

उन्होंने पत्र में जिले के ऐतिहासिक नगरों में शामिल कंपिल, श्रृंगीरामपुर और शमसाबाद का उल्लेख भी किया। उन्होंने कहा कि फर्रुखाबाद पांचाल क्षेत्र की राजधानी हुआ करती थी। सांसद ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि फर्रुखाबाद का नाम पांचालनगर करना बेहद जरूरी है। जिला का कंपिल नगर राजा द्रुपद की राजधानी थी। यहां द्रोपदी का स्वयंवर हुआ था। द्रुपद की सेना छावनी में रहती थी। सेना को दो बड़े रेजीमेंट भी हैं।

कंपिल जैन और हिंदुओं के लिए खासा महत्व रखता है। यही नहीं, महात्मा गौतम बुद्ध का स्वर्ग से अवतरण संकिसा में हुआ। वहां श्रीलंका, कंबोडिया, थाईलैंड, वर्मा, जापान आदि देशों से पर्यटक आते हैं। काशी की तरह फर्रुखाबाद शहर में जगह-जगह चंद कदमों की दूरी पर शिवालय होने के कारण अपराकाशी के नाम से यह प्रसिद्ध है।

सांसद ने पत्र में लिखा कि कलयुग के हनुमान कहे जाने वाले बाबा नीबकरोरी महाराज की तपोस्थली भी यहीं है। उनके नाम से रेलवे स्टेशन भी है। मुगल शासक फर्रुशियर ने 1714 में भारतीय पौराणिक संस्कृति को नष्ट करने के उद्देश्य से ऐतिहासिक नगर का नाम फर्रुखाबाद कर दिया था। उन्होंने आग्रह किया है कि भारतीय संस्कृति को पुनर्जीवित करने के लिए संसदीय क्षेत्र के जनपद फर्रुखाबाद का नाम बदल कर पांचालनगर/अपराकाशी किया जाए। इस निर्णय से जिले की जनता बेहद खुश होगी।



सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it