Begin typing your search...

ग्लोबल वार्मिंग की चिंताओं के बीच जी 20 देश वैश्विक तापमान को 1.5 डिग्री घटाने के लिए प्रतिबद्ध

दोनों राजनेताओं ने व्यापक भारत-फ्रांस रणनीतिक साझेदारी की वर्त्तमान स्थिति पर संतोष व्यक्त किया

ग्लोबल वार्मिंग की चिंताओं के बीच जी 20 देश वैश्विक तापमान को 1.5 डिग्री घटाने के लिए प्रतिबद्ध
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

G20 Summit: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इटली के रोम में आयोजित जी20 शिखर सम्मेलन की पृष्ठभूमि में फ्रांस के राष्ट्रपति महामहिम इमैनुएल मैक्रों के साथ द्विपक्षीय बैठक की।

दोनों राजनेताओं ने व्यापक भारत-फ्रांस रणनीतिक साझेदारी की वर्त्तमान स्थिति पर संतोष व्यक्त किया।

प्रधानमंत्री ने सितंबर,2021 में जारी हुई यूरोपीय संघ की भारत-प्रशांत रणनीति का भी स्वागत किया और इसमें फ्रांस के नेतृत्व की भूमिका के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति को धन्यवाद दिया। दोनों राजनेताओं ने भारत-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग करने और क्षेत्र में एक स्वतंत्र, खुले व नियम-आधारित व्यवस्था की दिशा में योगदान करने के क्रम में अभिनव तरीके ढूँढने के लिए अपनी प्रतिबद्धता की भी पुष्टि की।

दोनों राजनेताओं ने आगामी कॉप 26 और जलवायु के सन्दर्भ में वित्तीय मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता पर चर्चा की।

पर्यावरण संरक्षण के पैरोकार चार्ल्स ने कहा, " सरकारों को नेतृत्वकारी भूमिका निभानी चाहिए लेकिन हम जो समाधान चाहते हैं उसकी कुंजी निजी क्षेत्र के पास है। " चार्ल्स ग्लासगो सीओपी -20 सम्मेलन में सोमवार को जी 20 नेताओं का स्वागत करने वाले हैं।

इटली के रोम में जी-20 शिखर सम्मेलन में सभी सदस्य देशों ने बड़ा फैसला लिया है। ग्लोबल वार्मिंग की चिंताओं के बीच जी 20 देश वैश्विक तापमान को 1.5 डिग्री घटाने पर राज़ी हो गए हैं। सूत्रों के मुताबिक जी 20 के नेताओं ने एग्रीमेंट पर सहमति जता दी है।



Desk Editor
Next Story
Share it