Begin typing your search...

दिल्ली में शराब पर छूट का खेल जारी, जानिए कब तक एक बोतल पर दूसरी फ्री मिलेगी

दिल्ली में शराब पर छूट का खेल जारी, जानिए कब तक एक बोतल पर दूसरी फ्री मिलेगी
X

शराब के ठेके के बाहर खड़ी भीड़

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

शराब पर छूट का खेल दिल्ली में जारी है। एक बॉटल पर एक बॉटल मुफ्त मिलने की वजह से शराब की दुकानों के बाहर जहां लंबी-लंबी लाइनें लग रही हैं वहीं दुकान के भीतर भीड़। शराब के शौंकिनों के सामने सभी कोविड प्रतिबंध ही तार-तार नहीं हो रहे बल्कि नई आबकारी नीति में जो मानदंड दुकानों के लिए बनाए गए थे वह भी टूर रहे है। ग्राहकों को मनपसंद शराब भी नहीं मिल पा रहा है। उसकी जगह दूसरे ब्रांड की बिक्री की जा रही है।

उधर, प्रदेश भाजपा की तरफ से मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखा गया है। पत्र के माध्यम से निजी ठेकेदारों द्वारा चलाई जा रही शराब प्रमोशन स्कीम को लेकर विरोध दर्ज किया गया है। साथ ही नई आबकारी नीति में संशोधन की मांग की गई है।

प्रदेश भाजपा प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने पत्र में कहा है कि नई शराब नीति आने के बाद कई तरह की समस्याएं सामने आ रही है। निजी ठेकेदार शराब की खपत बढ़ाने के लिए स्कीम चला रहे है। इस स्कीम के चलते लोगों के हाथ में अधिक शराब पहुंच रही है। इसके परिणाम स्वरूप लोगों में खासकर युवाओं में शराब की खपत बढ़ रही। शराब ठेकों पर लड़ाई झगड़े के मामले बढ़ रहे हैं। पत्र मे कहा है की एक नागरिक को ध्यान में रख नई आबकारी नीति में संशोधन होना चाहिए। शराब ठेके खुलने का समय 12 बजे के बाद तय किया जाना चाहिए। ताकि स्कूल-कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र इस नशा से दूर रहे।

आपके लिए जानना जरूरी है कि हर दुकान पर शराब पर ऑफर या डिस्काउंट नहीं चल रहा है और एक बोतल पर दूसरी फ्री नहीं मिल रही है. दरअसल, नई आबकारी नीति लागू होने के बाद दिल्ली में शराब पर काफी छूट मिल रही है. कुछ जगहों पर गुड़गांव से भी सस्ती शराब मिल रही है. इसके चलते शराब की दुकानों पर भीड़ नजर आ रही है. ये भीड़ कोरोना काल के दौरान लॉकडाउन के बाद शराब की दुकान खुलने के बाद उमड़ी भीड़ की तस्वीरें याद दिलाती हैं।

आपको बता दें कि नवंबर 2021 में दिल्ली में नई आबकारी नीति लागू हुई थी. नई आबकारी नीति के तहत सरकार ने अधिकतम खुदरा कीमत तय की है, लेकिन वेंडर्स के पास कॉम्पिटिटीव प्राइसिंग की अनुमति है।

यानी शराब के ठेकेदार सरकार की ओर से निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत पर शराब नहीं बेच सकते हैं, लेकिन कम में बिक्री कर सकते हैं. यह दुकानदार पर निर्भर करता है कि वह किस दाम पर बेचे और क्या ऑफर दे. यही वजह है कि दिल्ली में सभी शराब की दुकानों पर छूट नहीं मिल रही है. जिन दुकानों पर शराब पर छूट मिल रही है लोग वहीं जाकर शराब खरीद रहे हैं।

बता दें कि एक बोतल पर दूसरी बोतल फ्री और एक पेटी पर दूसरी शराब की पेटी फ्री का ऑफर कई दिनों से दिल्ली में चल रहा है. लेकिन, यह तभी तक चलेगा जब तक शराब की दुकानों के पास स्टॉक मौजूद है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह ऑफर मार्च अंत तक चलने की उम्मीद है।

दरअसल, शराब की दुकानों को मार्च अंत तक अपना स्टॉक खत्म करना है. नए वित्त वर्ष में लाइसेंस का नवीनीकरण होगा. लाइसेंस के नवीनीकरण को लेकर दुकानदार आकर्षक ऑफर देकर स्टॉक खत्म कर रहे हैं. यही वजह है कि कई जगहों पर शराब के दाम पर 35 फीसदी तक की छूट मिल रही है।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it