Begin typing your search...

मोदी सरकार ने देश के लोगों के साथ किया धोखा, कांग्रेस का फिरोजाबाद में प्रदर्शन

कांग्रेस कमेटी फिरोजाबाद गांधी पार्क चौराहे पर गैस और तेल की बढ़ी हुई कीमतों के विरोध में प्रदर्शन कर रही है। 

मोदी सरकार ने देश के लोगों के साथ किया धोखा, कांग्रेस का फिरोजाबाद में प्रदर्शन
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के आह्वान पर जिला कांग्रेस कमेटी फिरोजाबाद (Distt.Congress Committie) द्वारा पेट्रोल, डीजल, एलपीजी और पीएनजी के लगातार बढ़ते दामों के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। इस दौरान पार्टी जिलाध्यक्ष संदीप तिवारी (Sandeep Tiwari) ने बताया आज जिला कांग्रेस कमेटी फिरोजाबाद गांधी पार्क चौराहे पर गैस और तेल की बढ़ी हुई कीमतों के विरोध में प्रदर्शन कर रही है। मोदी सरकार (Modi Govt) ने भारत के नागरिकों के साथ धोखा और विश्वासघात और छल किया है। चुनावों में लोगों के वोट बटोरने के लिए लगभग 137 दिनों तक पेट्रोल, डीजल, गैस सिलेंडर, सीएनजी और पीएनजी के दामों को स्थिर रखा गया और अब पिछले लगभग 9 दिनों से लगातार इनकी कीमतों में इजाफा किया जा रहा है।

तिवारी ने कहा कि रोजाना तेल की कीमतों में लगभग 80 पैसे की बढ़ोतरी और गैस सिलेंडर पर 50 रुपये बढ़ाकर अब डीजल नौवें दिन लगभग 93 रुपये और पेट्रोल लगभग 101 रुपये हो चुका है। 9 दिनों में लगभग पेट्रोल, डीजल पर 5 से 6 रुपये की वृद्धि हो चुकी है और यह सरकार जनता से निरंतर झूठ पर झूठ बोल रही है और इनकी जनविरोधी नीतियों के कारण जनता की कमर टूट चुकी है। यह जनता के साथ विश्वासघात है। केंद्र सरकार अपने पूंजीपति मित्रों को लाभ पहुंचाने के लिए इस जनविरोधी कार्यो को अंजाम दे रही है।

उन्होंने आगे कहा कि जब मई 2014 में भाजपा ने सत्ता संभाली तो पेट्रोल और डीजल पर उत्पादन शुल्क क्रमशः 9.20 रुपये प्रति लीटर और 3.46 रुपए प्रति लीटर था। पिछले 8 सालों में भाजपा सरकार ने एक्साइज ड्यूटी पेट्रोल पर 18. 70 रुपये प्रति लीटर और डीजल 18.34 रुपये प्रति लीटर बढ़ा दिए। यानी डीजल और पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी में क्रमशः 531% और 203% की बढ़ोतरी हुई है। जब यूपीए सरकार सत्ता में थी और कच्चे तेल की कीमत $108 प्रति बैरल पर थी उसके बावजूद उस समय पेट्रोल-डीजल क्रमशः 71.41 रुपये प्रतिलीटर और 55.49 रुपये प्रति लीटर थी।

Sakshi
Next Story
Share it