Begin typing your search...

ऐसी क्या मजबूरी थी? दो बेटीयों को सोता हुआ लावारिस छोड़ गई मां

ऐसी क्या मजबूरी थी? दो बेटीयों को सोता हुआ लावारिस छोड़ गई मां
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

ऐसी क्या मजबूरी थी कि नवरात्र पर्व पर माता-पिता अपनी दो कन्याओं को कानपुर में सेंट्रल स्टेशन पर लावारिस छोड़ कर निकल गए। गुरुवार की भोर में नवरात्र के शुभारंभ से ठीक पहले दो बच्ची रात में कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर लावारिस हालत में मिलीं तो अफरा तफरी मच गई। दोनों बहनें हैं और एक जैसी पोशाक पहले बेंच पर सो रही थीं। सेंट्रल स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर तीन पर बुधवार देर रात दो और पांच साल की दो बच्चियां काफी देर से एक बेंच पर सो रही थीं। काफी देर तक जब उनके पास कोई नहीं पहुंचा तो प्लेटफार्म पर मौजूद यात्रियों को शंका हुई। इस पर उन्होंने जीआरपी को सूचना दी।

इसके बाद एसआइ नकुल वहां पहुंचे और दोनों बच्चियों को अपने साथ घर ले गए। उन्होंने बताया कि दोनों बहनें हैं और एक ही रंग के कपड़े पहन रखे हैं। रात का समय होने के चलते ज्यादा पूछताछ नहीं कि गयी। बच्चियों ने बस इतना बताया कि मम्मी कुछ देर में आने और उनसे वहीं बेंच पर लेटने को कह गयी हैं । एसआई ने बताया कि मामले से उच्चाधिकारियों को अवगत कराने के साथ दोनों बच्चियां चाइल्ड लाइन के सुपुर्द की जाएंगी।

अभी तक बच्चियों के परिजनों की कोई जानकारी नहीं मिल सकी। जीआरपी के मुताबिक एक बच्ची की उम्र 5 साल और दूसरी की उम्र 2 साल है। दोनों के पास से ऐसा कोई समान नहीं मिला जिससे उनकी पहचान हो सके। बच्चियों के हाथ में बिस्कुट के पैकेट थे। दोनों लाल रंग और नीले रंग के कपड़े पहने हुई थीं। बच्चियों के परिजनों की तलाश की जा रही है।


सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it