Top
Begin typing your search...

नवाजुद्दीन का फिल्म इंडस्ट्री को लेकर बड़ा खुलासा, भाई-भतीजावाद नहीं, इंडस्ट्री में है असली समस्या है ये!

नवाजुद्दीन का फिल्म इंडस्ट्री को लेकर बड़ा खुलासा, भाई-भतीजावाद नहीं, इंडस्ट्री में है असली समस्या है ये!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बॉलीवुड अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी का कहना है कि फिल्म इंडस्ट्री की असल समस्या भाई-भतीजावाद नहीं, बल्कि नस्लवाद है। उन्होंने यह बात अपने एक इंटरव्यू में कही है। गौरतलब है कि नवाजुद्दीन सिद्दीकी की फिल्म सीरियस मेन को हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय एमी (ईएमएमवाई) के लिए नामांकन मिला है। यह फिल्म सुधीर मिश्रा ने बनाई है, जो कि पिछले साल रिलीज हुई थी। इस फिल्म को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए नॉमिनेट किया गया है। इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ टेलीविजन आर्ट्स एंड साइंसेज न्यूयॉर्क में 22 नंवबर को 2021 के इंटरनेशनल एमी अवार्ड्स के विजेताओं का एलान करेगी।

नवाज ने अपने साक्षात्कार में साफ तौर पर कहा है कि बॉलीवुड में नस्लवाद सबसे बड़ी समस्या है। नवाज फिल्म में अपनी सह-कलाकार इंदिरा तिवारी के बारे में बात कर रहे थे, जिनसे उन्हें उम्मीद है कि सीरियस मेन के बाद उन्हें एक और मुख्य भूमिका मिलेगी। उन्होंने कहा कि यही असली जीत होगी।

नवाजुद्दीन का कहना है कि सुधीर साहब को सिनेमा के बारे में अपार ज्ञान है। उन्होंने सुधीर मिश्रा की विचार प्रक्रिया को व्यावहारिक बताया है। उन्होंने कहा कि सुधीर मिश्रा ने इंदिरा तिवारी को हीरोइन के तौर पर लिया। मैं आपको गारंटी दे सकता हूं कि हमारे उद्योग में इतना नस्लवाद है, अगर उसे फिर से मुख्य भूमिका में लिया जाता है, तो मुझे बहुत खुशी होगी। उन्होंने कहा, बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद से ज्यादा, हमें नस्लवाद की समस्या है।

नवाजुद्दीन ने कहा, मैंने इसके खिलाफ कई सालों तक लड़ाई लड़ी। मुझे उम्मीद है कि काले रंग की अभिनेत्रियों को नायिका बनाया जाएगा। यह बहुत जरूरी है। मैं त्वचा के रंग के बारे में भी बात नहीं कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री में रंग को लेकर एक पूर्वाग्रह है, जिसे बेहतर फिल्मों के निर्माण के लिए खत्म करना जरूरी है।

मुझे सालों तक सिर्फ इसलिए खारिज कर दिया गया, क्योंकि मैं छोटा हूं और मैं एक निश्चित तरीके से दिखता हूं। हालांकि मैं अब शिकायत नहीं कर सकता। लेकिन ऐसे और भी कई महान अभिनेता हैं, जो इस तरह के पूर्वाग्रह का शिकार हो जाते हैं। गौरतलब है कि नवाजुद्दीन सिद्दकी हिंदी फिल्मों के मजे हुए कलाकार हैं। उन्होंने बॉलीवुड की कई महत्वपूर्ण फिल्मों में अपने अभिनय का जलवा बिखेरा है।

उनके करियर की शुरूआत 'शूल' और 'सरफरोश' जैसी फिल्मों से हुई। लेकिन उन्हें असल पहचान 'पीपली लाइव', 'कहानी', 'गैंग्स ऑफ वासेपुर', 'द लंच बॉक्स' जैसी फिल्मों से मिली। उन्होंने इंडस्ट्री में स्थापित होने के लिए कड़ा संघर्ष किया है।

Read more: https://www.amarujala.com/photo-gallery/entertainment/bollywood/nawazuddin-siddiqui-says-not-nepotism-industry-actually-has-a-racism-problem?pageId=5

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it