Top
Begin typing your search...

जानें कैसे होगा नेट रनरेट से भारत के सेमीफाइनल में पहुंचने का रास्ता साफ

जानें कैसे होगा नेट रनरेट से भारत के सेमीफाइनल में पहुंचने का रास्ता साफ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

टी-20 विश्व कप 2021 में आज ग्रुप-2 के अहम मुकाबले में अफगानिस्तान का सामना केन विलियमसन की अगुवाई वाली न्यूजीलैंड टीम से होगा। आबुधाबी में खेले जाने वाले इस मैच से भारतीय टीम का वर्ल्ड कप में आगे का सफर भी तय होना है। मोहम्मद नबी एंड कंपनी अगर कीवी टीम को धारायाशी करने में सफल रहती है तो टीम इंडिया के लिए सेमीफाइनल में पहुंचने का रास्ता लगभग क्लियर हो जाएगा। हालांकि, अगर न्यूजीलैंड की टीम अफगानिस्तान को हरा देती है तो वह सीधे अंतिम चार में अपनी जगह पक्की कर लेगी। ऐसे में अफगानी फैन्स को आज करोड़ों भारतीयों का भी साथ मिलेगा और हर कोई मिलकर बस अफगानिस्तान की जीत की दुआ करेगा।

नेट रनरेट के मामले में टीम इंडिया स्कॉटलैंड को महज 39 गेंदों में हराकर सबसे आगे चल रही है, बस अगर टीम को कुछ चाहिए तो वो है 7 नवंबर को किस्मत का साथ। न्यूजीलैंड अगर अफगानिस्तान को मात दे देती है तो टी-20 विश्व कप 2021 में भारतीय टीम का सफर खत्म हो जाएगा और नामीबिया के खिलाफ टीम का मैच महज औपचारिकता बनकर रह जाएगा। भारत ने पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ लगातार दो मैच गंवाने के बाद अफगानिस्तान और फिर स्कॉटलैंड के खिलाफ धमाकेदार जीत दर्ज की है।

क्या होता है नेट रनरेट और क्यों पड़ती है इसकी जरूरत

क्रिकेट के आधुनिक युग में जब भी आईसीसी कोई टूर्नामेंट (वर्ल्ड कप, चैम्पियंस ट्रॉफी, वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप) आयोजित करवाता है तो यहां नेट रनरेट की जरूरत पड़ती है। ऐसा कई सारी टीमों में से कुछ टीमें चुनने के लिए किया जाता है। पहले अक्सर ऐसा देखा जाता था कि आईसीसी दो टीमों के बीच नतीजा न मिलने पर दोनों टीमों को ही विजेता घोषित कर देता था, लेकिन अब महत्वपूर्ण मौकों पर किसी टीम का चयन का आधार नेट रनरेट को ही माना जाता है।

कैसे होती है नेट रनरेट गणना

नेट रनरेट का इस्तेमाल दो टीमों में से बेहतरीन टीम चुनने के लिए किया जाता है। इसकी कैलकुलेशन को एक उदाहरण से समझ सकते हैं। मान लीजिए एक टीम ने पहले खेलते हुए स्कोरबोर्ड पर 150 बनाए और दूसरी टीम लक्ष्य का पीछा करते हुए 130 रन बना सकी। यहां पहले खेलने वाली टीम का रनरेट 150/20 यानी 7.5 हुआ और दूसरी दूसरी टीम का 130/20 यानी 6.5। हम यहां अगर नेट रनरेट को निकालेंगे तो यह 7.5-6.5 यानी 1 होगा। अब यहां पहले खेलने वाली टीम जीती है और उसने दूसरी टीम के मुकाबले ज्यादा रन बनाए तो यहां उसका नेट रनरेट पॉजिटिव 1 होगा और हारने वाली टीम का नेट रनरेट नेगेटिव 1 होगा।

यूएई और ओमान में खेले जा रहे टी-20 वर्ल्ड कप में इस समय फैन्स को एक से बढ़कर एक मैच देखने को मिल रहे हैं। सुपर 12 राउंड के मैच खत्म होने वाले हैं, जिसके बाद सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबले खेले जाएंगे। ग्रुप-वन से इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया ने सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है, जबकि ग्रुप-टू से पाकिस्तान सेमीफाइनल में जगह बना चुका है और दूसरी टीम के लिए न्यूजीलैंड, भारत और अफगानिस्तान के बीच मुकाबला है। टी-20 वर्ल्ड कप में दर्शकों ने अब तक जितने भी मैच देखे हैं, उन्हें बार-बार नेट रनरेट के बारे में जरूर सुनने को मिल रहा होगा।

नेट रनरेट से होगा भारत के सेमीफाइनल में पहुंचने का रास्ता साफ

टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया अभी ग्रुप-2 में चार प्वॉइंट्स के साथ तीसरे नंबर पर चल रहा है। आज अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले मुकाबले के साथ भारत की किस्मत का फैसला हो जाएगा। आज अगर न्यूजीलैंड को जीत मिली तो टीम इंडिया बाहर हो जाएगी, वहीं अगर आज अफगानिस्तान जीता तो फिर नेट रनरेट की भूमिका अहम हो जाएगी। टीम इंडिया नेट रनरेट के मामले में अभी अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड से बेहतर स्थिति में है।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it