Top
Begin typing your search...

सुसाइड करने वाले पिता का बेटे ने चेक किया मोबाइल, ब्लैकमेलिंग का खुला सनसनीखेज राज

मृतक व्यापारी के बेटे ने जब अपने पिता का मोबाइल चेक किया तो मोबाइल में व्यापारी द्वारा जहर खाकर जान देने से पहले बनाया गया एक वीडियो मिला.

सुसाइड करने वाले पिता का बेटे ने चेक किया मोबाइल, ब्लैकमेलिंग का खुला सनसनीखेज राज
X

फाइल फोटो 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

फ़तेहाबाद के रतिया में 5 अक्टूबर को आत्महत्या करने वाले एक प्लाईवुड व्यापारी की मौत के पीछे बड़े चौंकाने वाले कारणों का खुलासा हुआ है. अस्थि विसर्जन के बाद मृतक व्यापारी के बेटे ने जब अपने पिता का मोबाइल चेक किया तो मोबाइल में व्यापारी द्वारा जहर खाकर जान देने से पहले बनाया गया एक वीडियो मिला.

इस वीडियो में व्यापारी ने फतेहाबाद महिला थाना में तैनात एक पुलिसकर्मी सहित 6 लोगों पर ब्लैकमेलिंग करके 2 करोड़ रुपये लेने और 20 लाख रुपये की डिमांड और किए जाने का आरोप है. मृतक के परिवार ने पुलिस को यह वीडियो सौंपते हुए शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की जिस पर रतिया थाना पुलिस ने व्यापारी द्वारा वीडियो में बताई जा रहे नामों को चिन्हित करते हुए सभी 6 आरोपी लोगों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने और ब्लैकमेलिंग करने के आरोप में केस दर्ज कर लिया है.

मृतक व्यापारी के भाई प्रह्लाद सिंह ने बताया कि 5 अक्टूबर को मेरे भाई राजेन्द्र ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी लेकिन उस समय हमें आत्महत्या के पीछे कारण समझ नहीं आए. बाद में पता चला कि कुछ लोग मेरे भाई को ब्लैकमेल कर रहे थे और ब्लैकमेल करके 2 करोड़ रुपये आरोपियों ने ले भी लिए थे और इसके बाद लगातार और पैसे देने की डिमांड की जा रही थी. हमने पुलिस को शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की है लेकिन पुलिस ने अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की है.

वहीं, मृतक के बेटे विकास ने बताया कि अस्थि विसर्जन के बाद जब मैं हरिद्वार से लौट रहा था तो रास्ते में मैंने अपने पिता का मोबाइल चेक किया तो मोबाइल में डिलीट हिस्ट्री में करीब 1 मिनट का एक वीडियो मिला ज‍िसे मेरे पिता ने दोबारा खुद शूट किया गया था. इस वीडियो में मेरे पिता अको रानी नाम की महिला, एक पुलिसकर्मी सहित अन्य कुछ लोगों पर 2 करोड़ रुपये की ब्लैकमेलिंग करने की बात कहते हुए दिखाई दे रहे हैं.

ब्लैकमेलिंग करने वाले लोग 20 लाख रुपये की और मांग कर रहे थे और पैसे ना होने की मजबूरी के चलते मेरे पिता को आत्महत्या करनी पड़ी. हमने पुलिस को मामले की शिकायत दर्ज करवाई है लेकिन पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही. सिर्फ एफआईआर दर्ज की गई है जबकि आरोपी गायब होते जा रहे है. हमारी मांग है कि पुलिस सभी आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करे.

वहीं, इस मामले पर रतिया थाना के एसएचओ रुपेश चौधरी ने बताया कि 5 अक्टूबर को व्यापारी राजेन्द्र की मौत हुई थी और पुलिस ने उस समय परिवार से पूछताछ करके नियमानुसार कार्रवाई करके पोस्टमॉर्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया था. 6 दिन बाद परिवार ने 12 अक्टूबर को थाने में शिकायत देकर एक वीडियो पुलिस को सौंपा है. वीडियो और शिकायत के आधार पर हमने सभी आरोपियों पर केस दर्ज कर लिया है और हमारी फॉरेंसिक टीम ने श्मशान घाट में जाकर जरूरी सैंपल और मृतक के कपड़े कब्जे में ले लिए हैं. पुलिस पूरी गंभीरता से मामले की जांच कर रही है और जो भी मामले में आरोपी शामिल है सभी को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा.

वहीं, मृतक व्यापारी के मोबाइल से मिले वीडियो में अपनी जान देने से पहले व्यापारी ने फतेहाबाद के महिला थाना में तैनात एक पुलिसकर्मी सहित रतिया की रहने वाली 2 महिलाएं, एक प्रिंटिंग प्रेस का संचालक व 2 अन्य लोग लगातार उसे ब्लैकमेल करके रुपये मांग रहे थे. आरोपियों को 2 करोड़ को मैं दे चुका हूं और 20 लाख रुपये की डिमांड आरोपियों ने अब और रखी है. मैं रुपये देने में असमर्थ हूं इसलिए सल्फास खाकर जान दे रहा हूं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it