Top
Begin typing your search...

पोर्न फिल्म केस: राज कुंद्रा ने पूनम पांडे और शर्लिन चोपड़ा ने क्यों बनाये ये वीडियो?

पोर्न फिल्म केस: राज कुंद्रा ने पूनम पांडे और शर्लिन चोपड़ा ने क्यों बनाये ये वीडियो?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

एक्ट्रेस शिल्पा शेट्‌टी के पति बिजनेसमैन राज कुंद्रा ने पोर्नोग्राफी मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट में अपनी अग्रिम जमानत अर्जी दी है। पूनम पांडे और शर्लिन चोपड़ा का नाम भी इस मामले में जुड़ा हुआ है। कोर्ट ने पिछले हफ्ते मामले की सुनवाई सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी थी।

अब कुंद्रा की लीगल टीम के प्रमुख एडवोकेट प्रशांत पाटिल और एडवोकेट स्वप्निल आम्बुरे का कहना है कि वर्तमान स्थिति में आवेदक या किसी सह-आरोपी के खिलाफ ना तो धारा 67 और ना ही धारा 67 (ए) के तहत कोई मामला बनाया जा सकता है।

पूनम-शर्लिन ने व्यावसायिक लाभ के लिए वीडियो बनाए

कुंद्रा के एडवोकेट प्रशांत पाटिल ने बयान में कहा, "अभियोजन पक्ष यह तर्क देना चाहता है कि शर्लिन चोपड़ा और पूनम पांडे के वीडियो अपराध का विषय हैं। यह रिकॉर्ड की बात है कि कुंद्रा ने इन वीडियोज को बनाने या वितरण करने में कोई भूमिका नहीं निभाई है। वास्तव में शर्लिन चोपड़ा और पूनम पांडे दोनों ने कहा है कि उन्होंने खुद इस तरह के वीडियो बनाए और यह उनके द्वारा व्यावसायिक लाभ के लिए किया गया था।"

कुंद्रा किसी भी तरह से वीडियोज को प्रसारित करने से जुड़े नहीं हैं

प्रशांत पाटिल ने मामले पर आगे कहा, "हमने एक जजमेंट और एक ब्रीफ नोट प्रस्तुत किया है, जो दर्शाता है कि कैसे उक्त कंटेंट और वीडियो IT अधिनियम के 67A को आकर्षित नहीं करते हैं। प्रशांत पाटिल ने नोट में कोर्ट से यह भी कहा है कि कुंद्रा किसी भी तरह से कंटेंट क्रिएशन, पब्लिकेशन और उक्त वीडियोज को प्रसारित करने से जुड़े नहीं हैं। जिन वीडियोज की बात हो रही है, वह एरॉटिक हो सकते हैं, लेकिन उनमें फिजिकल सेक्‍सुअल ऐक्‍ट‍िविटी नहीं दिखाई गई है। यह कलाकारों द्वारा शूट किए गए हैं, जिसमें कलाकारों ने सहमति जताई है।"

आरोपियों के बयानों के कारण कुंद्रा को मामले में घसीटा गया

वकीलों द्वारा अदालत को दिए गए अतिरिक्त दस्तावेज में कहा गया है कि कुंद्रा जो कि यूके के नागरिक हैं, उनका नाम प्राथमिकी में नहीं है और अन्य सह-आरोपियों के बयानों के कारण उन्हें मामले में घसीटा गया है। वहीं कुंद्रा का कहना है कि वह आर्म्सप्राइम प्राइवेट लिमिटेड में डायरेक्टर थे। शर्लिन चोपड़ा का कथित वीडियो कुंद्रा के कंपनी से बाहर निकलने के बाद अपलोड किया गया था।

ऐप 'हॉटशॉट्स' से जुड़ी जांच को संबोधित करते हुए वकीलों ने कहा कि, "'हॉटशॉट्स' पर प्रदर्शित होने वाला कोई भी कंटेंट उस अवधि के दौरान बनाया या अपलोड नहीं किया गया था, जब राज इससे जुड़े थे।"

कुंद्रा की अग्रिम जमानत पर सुनवाई 25 नवंबर को होगी

बता दें कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने जुलाई में पोर्न मामले में शर्लिन और पूनम की अग्रिम जमानत अर्जी स्वीकार कर ली थी। उनकी याचिका पर सुनवाई के बाद अदालत ने घोषणा की कि 20 सितंबर 2021 तक दोनों के खिलाफ कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं की जाएगी। शर्लिन और पूनम दोनों ने कहा था कि कुंद्रा ने उन्हें ए-रेटेड फिल्मों की शूटिंग के लिए मजबूर किया था। इस मामले में कुंद्रा की अग्रिम जमानत पर सुनवाई 25 नवंबर को होगी।

दो महीने जेल में थे राज कुंद्रा

राज कुंद्रा पोर्न फिल्म मेकिंग केस में 2 महीने तक जेल में बंद थे। मुंबई क्राइम ब्रांच ने अदालत में राज कुंद्रा के खिलाफ 1,500 पन्नों की चार्ज शीट दायर की है। हालांकि गहना वशिष्ठ ने दावा किया था कि शर्लिन ने राज को बोल्ड कंटेंट इंडस्ट्री में खींचा था। शर्लिन केवल ध्यान खींचने के लिए राज पर कीचड़ उछाल रही हैं। गहना ने कहा कि अब शर्लिन शिल्पा शेट्‌टी को निशाना बना रही है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it