Begin typing your search...

समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क जाटों पर लगाया बड़ा आरोप

समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क जाटों पर लगाया बड़ा आरोप
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों की हार के बाद संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहामान बर्क ने तो पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जाटों पर सपा को वोट ना देने का आरोप मढ़ा है।

संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद 91 वर्षीय शफीकुर्रहामान बर्क 1974 से लोकसभा सदस्य होते आ रहे हैं। वह विवादित बयानों के कारण भी काफी सुर्खियों में रहते हैं। वंदे मातरम को इस्लाम के खिलाफ बताने वाले बर्क ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश से समाजवादी पार्टी के हारने का कारण जाटों का मुस्लिमों को वोट ना देना बताया है।

लोकसभा के बजट सत्र के दौरान सदन से बाहर शफीकुर्रहामान बर्क ने कहा कि इस बार जाटों ने समाजवादी पार्टी का साथ नहीं दिया। उन्होंने कहा कि सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय लोकदल को 36 सीट दीं, लेकिन इस पार्टी के प्रत्याशी आठ सीट पर ही जीत दर्ज कर सके। अगर इनके स्थान पर समाजवादी पार्टी के ही प्रत्याशी लड़ते तो बेहतर रिजल्ट सामने आता।

बर्क ने कहा कि जाटों ने तो जाटों के नेता जयंत चौधरी को ही वोट नहीं दिया। उन्होंने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हमारे नेता अखिलेश यादव ने काफी जनसभा करने के साथ ही रोड शो भी किया था, लेकिन राष्ट्रीय लोकदल का प्रभाव वहां पर कम होता जा रहा है। मुसलमान भी राष्ट्रीय लोकदल के प्रत्याशी के पक्ष में एकजुट था, लेकिन इनको जाटों का वोट नहीं मिला।

योगी आदित्यनाथ के एक बार फिर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने पर उन्होंने कहा कि भाई वो भले ही सीएम बनेंगे, लेकिन उनके ख्यालात नहीं बदलेंगे। ख्यालात के बारे में वह कुछ भी नहीं बोले, लेकिन कहा कि मेरी गुजारिश है कि वो इंसानों के साथ इंसाफ करें। इंसान से ही किसी भी चीज की बुनियाद मजबूत होती है।




सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it