Begin typing your search...

समस्तीपुर में भी जहरीली शराब से चार की मौत

समस्तीपुर में भी जहरीली शराब से चार की मौत
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

पटना।बिहार में हालिया जहरीली शराब त्रासदी में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बिहार के अलग-अलग इलाकों में 33 से ज़्यादा लोगों की मौत की खबर है। इस बीच बिहार के समस्तीपुर के रुदौली गांव में चार और लोगों की मौत हो गई है। पुलिस ने मामले में आगे की शुरू कर दी है। साथ ही पुलिस ने लोगों से इस मामले में अपील करते हुए कहा है कि, अगर किसी को भी किसी शख्स के बीमार होने की जानकारी है तो वे फौरन पुलिस को सूचित करें।

समस्तीपुर के पुलिस अधीक्षक मानवजीत ढिल्लो ने बताया कि, बिहार के समस्तीपुर के रुदौली गांव में कथित तौर पर शराब पीने से कुल चार लोगों की मौत हो गई। मृतकों के पोस्टमार्टम किए जा रहे हैं। मामले में शामिल लोगों का पता लगाया जाएगा। उन्होंने ग्रामीणों से अपील की है कि, अगर कोई बीमार है तो पुलिस को फौरन सूचित करें।

मामले के सामने आने के बाद बिहार के अलग-अलग हिस्सों में अवैध शराब की बिक्री को लेकर कई लोगों की गिरफ्तारियां भी हुई हैं और गलती करने वाले अधिकारियों को सजा भी दी गई है। वहीं बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने शराब प्रतिबंधित राज्य में लोगों को मदिरा पीने से दूरी बनाने के लिए नये सिरे से अभियान शुरू करने का आह्वान किया है। हालांकि, पश्चिम चम्पारण और गोपालगंज जिलों के अधिकारियों ने दावा किया है कि जहरीली शराब पीने से सिर्फ 25 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है।

गौरतलब है कि जहरीली शराब पीने के दुष्प्रभावों में आंखों की रोशनी चले जाना आम बात है। पुलिस उप महानिरीक्षक ने बताया कि, ''दो अधिकारियों… नौतन थाने के प्रभारी मनीष शर्मा और गांव के चौकीदार को लापरवाही के लिए निलंबित किया गया है। कथित रूप से शराब बेचने वालों में से एक की मौत हो चुकी है, जबकि दूसरा मुन्ना राम फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है।" हालांकि, स्थानीय प्रशासन के सूत्रों के अनुसार, जहरीली शराब कांड की बात सामने आने से पहले ही शराब पीने से मरने वाले दो अन्य लोगों का उनके परिवार ने अंतिम संस्कार कर दिया था।

गोपालजंग में जिला मजिस्ट्रेट नवल किशोर चौधरी ने मोहम्मदपुर थाना क्षेत्र में 17 लोगों के मरने की पुष्टि की है, लेकिन इसपर जोर दिया कि इनमें से सिर्फ 11 लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है। मोहम्मदपुर थाना क्षेत्र के एक गांव के रहने वाले तीन लोगों का उनके परिजनों ने पोस्टमॉर्टम से पहले ही अंतिम संस्कार कर दिया।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it