Top
Begin typing your search...

वरिष्ठ कवि अर्जुनसिंह को हिंदी साहित्य परिषद द्वारा सारस्वत सम्मान, "राष्ट्रीय साहित्य सम्मेलन" का आयोजन होगा भी होगा कोंडागांव में

बाबू हेमचंद्र सिंह राठौर की स्मृति में "ककसाड़" द्वारा दिया जायेगा "राष्ट्रीय साहित्यिक अवार्ड"

वरिष्ठ कवि अर्जुनसिंह को हिंदी साहित्य परिषद द्वारा सारस्वत सम्मान, राष्ट्रीय साहित्य सम्मेलन का आयोजन होगा भी होगा कोंडागांव में
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

छत्तीसगढ़ हिंदी साहित्य परिषद द्वारा कोण्डागांव जनपद मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि स्वतंत्र कवि मंडल सांगीपुर के अध्यक्ष अर्जुन सिंह को सम्मानित किए जाने पर कोंडागांव छत्तीसगढ़ सहित प्रतापगढ़ व उप्र के तमाम साहित्यकारों ने हार्दिक प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बधाई दी है।

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ हिंदी साहित्य परिषद द्वारा "हर्बल इस्टेट" कोण्डागांव में ख्यातिलब्ध शायर स्वर्गीय हेमचंद्र सिंह राठौर की श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई थी।

कार्यक्रम की अध्यक्षता राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित "ककसाड़" दिल्ली मासिक पत्रिका के संपादक डॉ राजाराम त्रिपाठी ने किया। उन्होंने स्वर्गीय श्री हेमचंद्र सिंह राठौर को साहित्य की अमूल्य धरोहर बताते हुए उनके प्रति श्रद्धासुमन अर्पित किया तथा बाबू हेमचंद्र सिंह राठौर की स्मृति में "ककसाड़" द्वारा "राष्ट्रीय साहित्यिक अवार्ड" दिये जाने की घोषणा भी की। उल्लेखनीय है कि डॉ राजाराम त्रिपाठी अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त हर्बल किसान भी हैं।

श्रीमती शिप्रा त्रिपाठी, नरेंद्र सिंह राठौर, शंकर नाग, रमेश पांडा, सुदर्शन मांझी (उड़ीसा), अनुराग त्रिपाठी, बलई चक्रवर्ती, पत्रकार संघ कोण्डागांव के अध्यक्ष जमील खान, अखिलेश त्रिपाठी शोधार्थी हिंदी विभाग शहीद महेंद्र कर्मा विश्व विद्यालय, कृष्णा राठौर एवं संपदा समाजसेवी संघ के अध्यक्ष जसमती नेताम, अपूर्वा त्रिपाठी आदि की उपस्थिति में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि स्वतंत्र कवि मंडल सांगीपुर के अध्यक्ष वरिष्ठ रचनाकार अर्जुन सिंह का अंगवस्त्रम, श्रीफल एवं ककसाड़ दिल्ली मासिक पत्रिका की प्रति भेंट करके सारस्वत सम्मान किया गया।

सम्मान से अभिभूत अर्जुन सिंह ने कार्यक्रम में उपस्थित होने पर अपने को गौरवान्वित महसूस किया। उन्होंने कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ राजाराम त्रिपाठी को स्वतंत्र कवि मंडल सांगीपुर की वार्षिक पत्रिका "स्वतंत्र सौरभ" एवं मानस मंथन की लघु पुस्तिका "जग मंगल" की प्रतियां भेंट की।

छत्तीसगढ़ हिंदी साहित्य परिषद द्वारा स्वतंत्र कवि मंडल सांगीपुर के अध्यक्ष अर्जुन सिंह को सम्मानित किए जाने की जानकारी मिलने पर मंडल के संरक्षक यज्ञ नारायण सिंह अज्ञेय, कार्यकारी अध्यक्ष डॉ केशरी नंदन शुक्ल केशरी, गुरुबचन सिंह बाघ,यज्ञ कुमार पांडेय यज्ञ, डॉक्टर एसपी सिंह शैल, महादेव प्रसाद मिश्र बमबम,अरविंद सत्यार्थी, अशोक विमल, अब्दुल मजीद रहबर, योगेंद्र कुमार पांडेय, रामजी मौर्य आसमां, चंद्रशेखर मित्र एवं सुरेश अकेला सहित कविकुल प्रतापगढ़ के अध्यक्ष परशुराम उपाध्याय सुमन, सुरेश संभव, अनूप अनुपम,डॉ श्याम शंकर शुक्ल श्याम, डॉक्टर संगम लाल त्रिपाठी भंवर,डॉक्टर सौरभ पांडेय, सूर्यकांत मिश्र निराला,राजेश कुमार मिश्र, अवध नारायण शुक्ल वियोगी, चिंतामणि पांडेय, सुरेश दुबे ब्योम एवं शेष नारायण दुबे राही आदि प्रतापगढ़ जनपद के साहित्यकारों ने हार्दिक प्रसन्नता व्यक्त करते हुए आयोजक संस्था के प्रति आभार प्रकट करते हुए अर्जुन सिंह को बधाई दी है। डॉ त्रिपाठी ने कहा कि कोंडागांव बस्तर की पावन धरती राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर के कलाकारों और रचनाकारों की मानो खान है। इसीलिए इसे प्रदेश की साहित्य व कला राजधानी भी कहा जाता है।हम शीघ्र ही दोनों प्रदेशों सहित देश के वरिष्ठ साहित्यकारों से चर्चा कर हिंदी साहित्य परिषद तथा ककसाड़ पत्रिका के संयुक्त तत्वावधान में कोंडागांव में एक भव्य "राष्ट्रीय साहित्य सम्मेलन" कराने की पहल करेंगे।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it