Begin typing your search...

शामली:यमुना से सटे सेकड़ो गांवों पर मंडराया बाढ़ का खतरा, प्रशासन हुआ चौकन्ना

हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से एक लाख 60 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया

शामली:यमुना से सटे सेकड़ो गांवों पर मंडराया बाढ़ का खतरा, प्रशासन हुआ चौकन्ना
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

शामली: उत्तर प्रदेश के शामली जिले के आसपास के इलाकों में पिछले दो दिन से लगातार बारिश हो रही है.ऐसे में यमुना के जलस्तर बढ़ने से स्थानीय लोगों में बाढ़ का डर सता रहा है. वही पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार हो रही बारिश के बाद यमुना का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है. वही हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से एक लाख 60 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया है.जिससे यमुना का जलस्तर बढ़ने के कारण प्रशासन पूरी तरह सतर्क हो गया है.

आने वाले दिनों में यमुना का जलस्तर और बढ़ने की संभावना है. यमुना से सटे करीब 200 गांवों पर बाढ़ का संकट मंडरा रहा है जिसके चलते ग्रामीण दहशत में हैं.जो अब धीरे-धीरे बहकर कैराना स्थित यमुना में आ गया है. जिसके बाद कैराना में यमुना का जलस्तर 230 मीटर पर पहुंच गया है.

हालंकि शामली के कैराना क्षेत्र के यूपी हरियाणा बॉर्डर में यमुना का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है. एक दिन में एक मीटर पानी बढ़ा है. बरसात शुरू होने के बाद जहां कई इलाकों में बाढ़ ने तबाही मचा रखी है तो वहीं कैराना में यमुना का जलस्तर बढ़ने के बाद सरकारी महकमा सतर्क हो गया है. पानी बढ़ने की वजह से किसान परेशान नजर आ रहे हैं.

वहीं, जिला प्रशासन यमुना का जलस्तर बढ़ने के बाद बाढ़ चौकियों और हल्का लेखपालों को अलर्ट कर दिया है. इसके साथ ही यमुना के किनारे पीएसी के जवान नाव के साथ तैनात किए गए हैं. आसपास के किसानों को भी प्रशासन की तरफ से सतर्कता बरतने के निर्देश दिए जा रहे हैं.






RUDRA PRATAP DUBEY
Next Story
Share it