Top
Begin typing your search...

बीमार महिला को 3 किमी.कंधे पर टांग कर पहुंचाया अस्पताल,वजह जानकार हो जाएंगे हैरान

तामिया ब्लॉक के ग्राम घाना कोडिया गांव में पक्की सड़क न होने के कारण गांव की 30 वर्षीय महिला बसंती बाई की अचानक तबीयत खराब हो जाने के कारण उसके परिजनों ने लगभग 3 किलोमीटर डोली में टांग कर उसे गैलडूबा तक लाया गया

बीमार महिला को 3 किमी.कंधे पर टांग कर पहुंचाया अस्पताल,वजह जानकार हो जाएंगे हैरान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले से एक हैरान करने वाला मामल सामने आया है. जहा तामिया ब्लॉक के ग्राम घाना कोडिया गांव में पक्की सड़क न होने के कारण गांव की 30 वर्षीय महिला बसंती बाई की अचानक तबीयत खराब हो जाने के कारण उसके परिजनों ने लगभग 3 किलोमीटर डोली में टांग कर उसे गैलडूबा तक लाया गया जहां से उसे फिर प्राइवेट वाहन में बैठाकर अस्पताल पहुंचाया गया।

गौरतलब है कि, पातालकोट क्षेत्र में बसे ग्राम घाना कोडिया दुर्गम पहाड़ी के नीचे बसा हुआ है, यहां आजादी के बाद से आज तक सड़क नहीं बन पाई है। जिसके कारण लोगों को दुर्गम रास्ते के सहारे आवागमन करना पड़ रहा है ऐसे में गांव में यदि कोई बीमार हो जाता है तो उसे इसी तरह से डोली बनाकर दुर्गम पहाड़ के रास्ते से मुख्य मार्ग गैल डुब्बा तक लाया जाता है तब कही जाकर वे अस्पताल पहुंच पाते हैं।

सामान्य दिनों में तो ग्रामीण जैसे तैसे अपने गांव से 3 किलोमीटर का सफर तय करके मुख्य मार्ग तक आ जाते हैं, लेकिन बारिश के दिनों में यहां चलने में काफी असुविधा होती है। खासकर बारिश के समय में जब पहाड़ों से पानी रहता है तो इस दुर्गम रास्ते में मिट्टी बह जाती है और सिर्फ पत्थर ही रह जाते हैं ऐसे में यहां से आवागमन करने में लोगों को कितनी परेशानी होती होगी इसका सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

ग्राम घाना कोडिया के ग्रामीणों ने बताया कि उनके गांव में आजादी के बाद से ही सड़क नहीं बन पाई है बावजूद इसके किसी भी जनप्रतिनिधि ने आज तक उनकी समस्या की ओर ध्यान नहीं दिया है। ग्रामीणों की माने तो जनप्रतिनिधि उनके गांव में सिर्फ वोट मांगने आते हैं, और चुनाव के बाद लौट कर भी नहीं देखते।

Rajesh Kumar
Next Story
Share it