Begin typing your search...

Nancy Pelosi in Taiwan: आगबबूला चीन अमेरिकी राजदूत को तलब कर दी धमकी, बोला- चुकानी होगी कीमत

Nancy Pelosi in Taiwan: पेलोसी ने ताइपे में एक प्रेस वार्ता में कहा कि अमेरिका यथास्थिति का समर्थन करता है, लेकिन नहीं चाहता कि ताइवान को बलपूर्वक कुछ भी हो।

Nancy Pelosi in Taiwan: आगबबूला चीन अमेरिकी राजदूत को तलब कर दी धमकी, बोला- चुकानी होगी कीमत
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Nancy Pelosi in Taiwan: अमेरिका संसद के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव (House Of Representative) की स्पीकर नैन्सी पेलोसी (Nancy Pelosi) के ताइवान (Taiwan) पहुंचने पर चीन (China) आगबबूला हो गया है। बुधवार को उसने नैन्सी पेलोसी के ताइवानी संसद में बोलने के कुछ घंटों बाद ही बीजिंग में अमेरिकी राजदूत को तलब कर कड़ा विरोध दर्ज कराया और चेतावनी दी कि वाशिंगटन अपनी "गलतियों" के लिए" बड़ी कीमत चुकाने के लिए तैयार रहे।" इसके पहले चीन ने ताइवान के आस-पास लाइव-फायर मिलिट्री ड्रिल्स की घोषणा की थी। ताइवान के रक्षा मंत्रालय के अनुसार यह ताइवान के मुख्य बंदरगाहों और शहरी इलाकों को खतरे में डाल सकती है। चीन की समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक चीन की सेना पीएलए ने ताइवान के चारों ओर फायर ड्रिल और टारगेटेड मिलिट्री ऑपरेशन शुरू कर दिया है।

इसके साथ ही चीन ने ऐलान किया है कि वो एक दिन स्वशासित, लोकतांत्रिक ताइवान को अपने कब्जे में ले लेगा, चाहे इसके लिए उसे बल का प्रयोग ही क्यों ना करना पड़े। ताइवान के 23 मिलियन लोग लंबे समय से चीनी घुसपैठ की आशंका में जी रहे हैं। मौजूदा राष्ट्रपति शी चिनफिंग (Xi Jinping) के शासन में यह डर और बढ़ गया है.

इस बीच, पेलोसी ने ताइपे (Taipei) में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अमेरिका यथास्थिति का समर्थन करता है। यह नहीं चाहता कि ताइवान को बलपूर्वक कुछ भी हो। उन्होंने कहा, 'हम चाहते हैं कि ताइवान को हमेशा सुरक्षा के साथ आजादी मिले, हम इससे पीछे नहीं हट रहे हैं।" इससे पहले, ताइवान के राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन के साथ एक कार्यक्रम में बोलते हुए, पेलोसी ने कहा: "ताइवान के साथ अमेरिका की एकजुटता अब, पहले से कहीं अधिक, महत्वपूर्ण है, यही संदेश लेकर आज हम आए हैं।"

चीन की चेतावनियों के बीच मंगलवार को एक वायु सेना यात्री जेट से राजधानी ताइपे पहुंची नैन्सी पेलोसी पिछले 25 वर्षों में ताइवान का दौरा करने वाली सर्वोच्च रैंकिंग वाली अमेरिकी नेता हैं। राजधानी ताइपे पहुंचने के बाद अमेरिका नेता ने राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन के साथ एक कार्यक्रम के दौरान कहा, "आज, हमारा प्रतिनिधिमंडल… यह साफ करने के लिए यहां आया है कि हम ताइवान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को नहीं छोड़ेंगे और हमें अपनी स्थायी मित्रता पर गर्व है।"

यूएस हाउस की स्पीकर नैन्सी पेलोसी की ताइवान यात्रा को लेकर चीन में लाखों लोग इस मुद्दे पर चर्चा और डिबेट करने लगे थे। इसकी वजह से ट्विटर की तरह चीनी का माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म वीबो (Weibo) क्रैश कर गया। स्थानीय समय के अनुसार मंगलवार रात 10.40 बजे जैसे ही पेलोसी का विमान ताइपे में उतरा, लाखों लोग सोशल मीडिया पर संदेश भेजना शुरू कर दिए। अनगिनत संदेशों की बाढ़ के चलते चीनी माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म वीबो अचानक बंद क्रैश कर गया। आधे घंटे तक वीबो का सिगनल आउट होने पर सोशल मीडिया के अधिकारियों ने जनता से माफी मांगी।

उधर चीन ने बुधवार को ताइवान को प्राकृतिक रेत (Natural sand) के निर्यात को रोक दिया और स्व-शासित द्वीप से फल और मछली उत्पादों के आयात को भी बंद कर दिया। इससे पहले चीन ने अमेरिका की प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी की ताइवान पहुंचने से पहले चेतावनी के रूप में सोमवार से बिस्कुट और पेस्ट्री के 35 ताइवानी निर्यातकों से आयात को निलंबित कर दिया था।

Desk Editor Special Coverage
Next Story
Share it