Top
Begin typing your search...

आगरा में युवती की मौत के बाद जमकर बवाल, पथराव और फायरिंग के बाद पुलिस बल तैनात

पथराव और फायरिंग की घटना के बाद भाजपा विधायक राम प्रताप सिंह चौहान और योगेंद्र उपाध्याय थाने पहुंच गए.

आगरा में युवती की मौत के बाद जमकर बवाल, पथराव और फायरिंग के बाद पुलिस बल तैनात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा : उत्तर प्रदेश के आगरा (Agra) जिले शुक्रवार शाम एक युवती की संदिग्ध मौत (Suspected Death) के बाद जमकर बवाल हुआ. यहां एक युवती की संदिग्ध हालातों में मौत हो गई. युवती का शव फांसी के फंदे पर लटका मिला. सूचना मिलते ही हंगामा मच गया. वहीं, युवक मौके से फरार हो गया. बताया जा रहा है कि युवती ने अल्पसंख्यक समुदाय के युवक के साथ एक साल पहले लव मैरिज की थी. मौत के बाद दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए. इस दौरान दोनों पक्षों के बीच मारपीट और हंगामा हुआ.

मामला आगरा के शाहगंज थाना क्षेत्र के चिल्ली पाड़ा का है. जहां पर एक समुदाय के लड़के ने कुछ साल पहले दूसरे समुदाय की लड़की से शादी कर ली थी. अब लड़की की संदिग्ध हालत में मौत हो गई. इस मौत के बाद तमाम भाजपा नेता मौके पर पहुंच गए और हंगामा शुरू हो गया. दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए लिहाजा पत्थरबाजी भी हो गयी. पुलिस ने युवती के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम भेज दिया. लेकिन भाजपा के लोगों ने थाने का घेराव कर लिया. काफी देर तक यह हंगामा और नारेबाजी चलती रही.

पथराव और फायरिंग की घटना के बाद भाजपा विधायक राम प्रताप सिंह चौहान और योगेंद्र उपाध्याय थाने पहुंच गए. विधायकों की मौजूदगी में भाजपा कार्यकर्ताओं ने थाने में जमकर नारेबाजी की. भाजपा के विधायक ने अरमान और उसके घरवालों के खिलाफ मामला हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की. बाद में किसी तरह से पुलिस ने इस मामले को रफा-दफा कराया गया. मामला दो समुदाय के बीच में हुआ था लिहाजा इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it