Begin typing your search...

पैरोल पर जेल से बाहर आए राम रहीम ने 'हनीप्रीत' का बदला नाम, गद्दी को लेकर कह दी ये बड़ी बात

राम रहीम का जेल से बाहर आना सुर्खियों में बना हुआ है.

पैरोल पर जेल से बाहर आए राम रहीम ने हनीप्रीत का बदला नाम, गद्दी को लेकर कह दी ये बड़ी बात
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

डेरा सच्चा सौदा का प्रमुख और रेप का दोषी गुरमीत राम रहीम इन दिनों 40 दिन की पैरोल पर जेल से बाहर है. राम रहीम का जेल से बाहर आना सुर्खियों में बना हुआ है. अब डेरा प्रमुख ने अपनी सबसे खास और अहम राजदार हनीप्रीत का नाम बदल दिया है. राम रहीम ने हनीप्रीत का नाम बदलकर 'रूहानी दीदी' रख दिया है. हालांकि, हनीप्रीत (अब रूहानी दीदी) का असली नाम प्रियंका तनेजा है.

पैरोल पर बाहर आए राम रहीम से डेरे की गद्दी बदले जाने वाले कयासों को लेकर भी सवाल पूछे गए. इस पर राम रहीम ने कहा, 'हम हैं, हम थे और हम ही गद्दी पर रहेंगे.' ये दोनों तरह की घोषणा राम रहीम ने यूपी के बागपत में मौजूद बरनावा आश्रम में साधु संगत को संबोधित करते हुए की.

हरियाणा में निकाय चुनाव

हरियाणा में आगामी निकाय चुनाव को देखते हुए कई नेता गुरमीत राम रहीम के सत्संग में पहुंचकर आशीर्वाद ले रहे हैं. राम रहीम ने जेल से निकलते ही सोशल मीडिया पर अपना एक वीडियो अपलोड कर अपने समर्थकों को मैसेज दिया. दो बार सोशल मीडिया के जरिये सत्संग भी किया. डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को सत्संग को यूपी, हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश के राज्यों और विदेशों में रह रहे समर्थकों ने यू-ट्यूब पर सुना.

गौरतलब है कि गुरमीत राम रहीम बरनावा के आश्रम में पैरोल का समय काट रहा है, उसके साथ मुंह बोली बेटी हनीप्रीत और परिवार के अन्य सदस्य भी हैं. राम रहीम के भक्त डेरा प्रमुख के आश्रम में काफी संख्या में पहुंच रहे हैं. प्रशासन और आश्रम के लोग किसी भी अनजान व्यक्ति को प्रवेश नहीं दे रहे हैं. केवल सदस्यों को ही अंदर जाने की अनुमति है. ऐसे में गुरमीत राम रहीम के बाहर आने पर पहले ही यह विवाद खड़ा हो गया है कि खट्टर सरकार उसे अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर रही है और बार-बार उसे पैरोल दिया जा रहा है. हाल ही में हरियाणा में आदमपुर सीट पर उपचुनाव और पंचायती चुनाव होने जा रहा है.

Arun Mishra

About author
Assistant Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it