Begin typing your search...

UP Election: BJP ने अपने बयानों के लिए मशहूर बैरिया MLA सुरेंद्र सिंह का टिकट काटा, अब निर्दलीय ठोकेंगे ताल

बलिया की बैरिया सीट से मौजूदा विधायक सुरेंद्र सिंह ने खुद का टिकट कटने के बाद निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है।

UP Election: BJP ने अपने बयानों के लिए मशहूर बैरिया MLA सुरेंद्र सिंह का टिकट काटा, अब निर्दलीय ठोकेंगे ताल
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

यूपी विधानसभा चुनाव में जहां भाजपा फिर से सत्ता की वापसी के लिए पूरी ताकत झोंक रही है। वहीं उसके अपने ही नेता उसके लिए परेशानी का सबब बन रहे हैं। दरअसल कई सिटिंग विधायकों का टिकट कटने के बाद उनके बागी तेवर सामने आ रहे हैं। बलिया की बैरिया सीट से मौजूदा विधायक सुरेंद्र सिंह ने खुद का टिकट कटने के बाद निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है।

बता दें कि सुरेंद्र सिंह अपने विवादित बयानों की वजह से चर्चा में बने रहते हैं। ऐसे में इस बार भाजपा आलाकमान ने उन्हें टिकट नहीं दिया है। इस स्थिति में सुरेंद्र सिंह ने निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने रविवार को अपने ट्वीट में कहा, "बैरिया विधानसभा क्षेत्र के सभी सम्मानित जनता से निवेदन है कि मैं 8 फरवरी को निर्दलीय नामांकन करूंगा। आप सभी अपना आशीर्वाद और हमे प्रदान करें।"

गौरतलब है कि भाजपा ने 6 फरवरी की देर रात अपनी 8वीं सूची जारी कर दी। इसमें 45 उम्मीदवारों के नाम शामिल हैं। इस सूची में 7 महिलाएं हैं। वहीं पार्टी अब तक 340 प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर चुकी है। इसके अलावा कई ऐसे नाम हैं जो चौंकाने वाले हैं।

दरअसल यूपी सरकार में मंत्री स्वाती सिंह के पति दयाशंकर सिंह को सरोजिनी नगर से टिकट ना देकर बलिया से टिकट दिया है। वहीं लखनऊ की सरोजिनी नगर सीट से भाजपा ने राजराजेश्वर सिंह को मैदान में उतारा है।

इसके अलावा कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय को मोहम्दाबाद से टिकट दिया गया है। वहीं नई सूची में शिवपुर से अनिल राजभर, यूपी के चर्चित जिले अमेठी में रानी गरिमा सिंह की जगह उनके पति संजय सिंह, इलाहाबाद उत्तर से हर्ष बाजपेई, कोरांव से आरती कोल की जगह राजमणि कोल को टिकट दिया गया है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में सात चरणों में विधानसभा चुनाव कराये जाएंगे। जिसकी शुरुआत 10 फरवरी से होगी। वहीं नतीजे 10 मार्च को आएंगे। 17वीं विधानसभा के लिए 403 सीटों पर चुनाव 11 फरवरी से 8 मार्च 2017 तक 7 चरणों में हुए थे। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा का कार्यकाल 15 मई 2022 तक है।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it