Begin typing your search...

बलिया के सरकारी अस्पताल में मरीजों के सेहत से खिलवाड़, कर्मचारियों के खिलाफ होगी कार्रवाई

मरीज के परिजनों ने एक्सपाइरी डेट का दूध देखने के बाद अस्पताल में बवाल मचा दिया।

बलिया के सरकारी अस्पताल में मरीजों के सेहत से खिलवाड़, कर्मचारियों के खिलाफ होगी कार्रवाई
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बलिया के सरकारी अस्पताल में मरीजों के सेहत से खिलवाड़उत्तर प्रदेश के बलिया जिला स्थित महिला अस्पताल ( Women Hospital Ballia ) में भर्ती मरीजों की जान से खिलवाड़ का मामला सामने आया है। अस्पताल में भर्ती मरीजों और तीमारदारों ने जब बवाल मचाया तो अस्पताल प्रशासन को होश उड़ गए। सरकारी अस्पताल मे मुख्य चिकित्सा अधिकारी ( CMO ) ने आनन-फानन में मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच के आदेश ( investigation order ) दिए हैं। साथ ही दोषी एजेंसी व कर्मचारियों को खिलाफ मरीजों को कार्रवाई का भरोसा भी दिया है। चौंकाने वाली बात यह है कि ऐसी घटनाएं उस समय हो रही है जब सीएम योगी के सुशासन का दावा करते नहीं थकते।

दरअसल, बलिया सरकारी अस्पताल ( Ballia Government ) में मरीजों को एक्सपायरी डेट का दूध ( Expiry date milk ) देने का मामला सामने आया है। मरीज के परिजनों ने एक्सपाइरी डेट का दूध देखने के बाद अस्पताल में बवाल मचा दिया। साथ ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी से इस बात की शिकायत भी की। मरीजों के तीमारदारों ने जब इस मसले को बड़े पैमाने पर उठाने की चेतावनी दी तो असप्ताल के प्रशासन को सांप सूंघ गया।

एक्सपायरी डेट का दूध देने का मामला तूल पकड़ने के बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी इमामुद्दीन ने गंभीरता से लिया और जांच बैठा दी है। उनहोंने कहा कि दूध की आपूर्ति करने वाले ठेकेदार से स्पष्टीकरण देने को कहा गया है। अगर आरोप सिद्ध होता है तो फर्म को ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाएगा।

Ballia News : बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से जिला महिला अस्पताल में प्रसव के दौरान भर्ती महिलाओं की सेहत के लिए दूध देने की व्यवस्था की गई है। इसके तहत बलिया जिला महिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को दूध देने का ठेका एक फर्म को दिया गया था। मगर इस ठेकेदार की ओर से जिला महिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को एक्सपायरी डेट का दूध दे दिया गया। यह मामला प्रकाश में आने के बाद मरीजों व उनके तिमारदारों ने जब बवाल काटा तो अस्पताल प्रशासन हरकत में आया और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के आश्वासन दिए हैं।

Sakshi
Next Story
Share it