Top
Begin typing your search...

खेत में मिली दलित युवती की लाश, रेप की आशंका

खेत में मिली दलित युवती की लाश, रेप की आशंका
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

यूपी के बाराबंकी में एक दलित युवती की लाश खेत में मिलने से सनसनी फैल गई. आशंका जताई जा रही है कि रेप के बाद उसकी हत्या कर दी गई और लाश को खेत में फेंक दिया गया. हालांकि पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है. उधर, विपक्षी दलों ने एक बार फिर इस मामले को लेकर सूबे की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं.

ये सनसनीखेज मामला बाराबंकी जिले के जैदपुर थाना क्षेत्र का है. जहां रविवार की रात बीवीपुर गांव के पास सरसों के खेत में करीब 22 वर्षीय एक दलित लड़की की लाश मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. लड़की की लाश को देखकर आशंका जताई जा रही है कि रेप के बाद उसकी हत्या कर दी गई.

मामले की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस के आलाधिकारियों ने खुद मौका-ए-वारदात पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया. इस दौरान डॉग स्क्वायड और फोरेंसिक टीम को भी घटनास्थल पर बुलाया गया और वहां से सबूत इकट्ठा किए गए हैं.

लड़की का शव पोस्टमार्टम हाउस पहुंचते ही वहां गांववालों की भीड़ जमा हो गई. इस बात की सूचना पर आईजी रेंज डॉ. संजीव गुप्ता भी वहां पहुंच गए. आईजी गुप्ता ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि जैदपुर थाना क्षेत्र के बीवीपुर गांव के पास खेत में लड़की मृत अवस्था में पाई गई थी. इस मामले को बेहद गंभीरता से लेते हुए आईपीसी की धारा 302 (हत्या) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

आईजी के मुताबिक पुलिस ने कुछ लोगों को पूछताछ के लिए उठाया है. पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में पांच टीम बनाई गई हैं. जल्द ही इस वारदात का खुलासा किया जाएगा. मामले को संवेदनशील मानते हुए डीएम, एसपी और आईजी रेंज की मौजूदगी में डॉक्टरों का पैनल बनाकर पोस्टमोर्टम करवाया गया. साथ ही पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई है. अब पुलिस को रिपोर्ट का इंतजार है.

उधर, इस मामले पर सियासत भी तेज हो गई है. कांग्रेस के पूर्व सांसद पी.एल.पुनिया और प्रवक्ता तनुज पुनिया समेत कई नेताओं का एक प्रतिनिधि मंडल भी बाराबंकी पहुंच गया. समाजवादी पार्टी भी पीछे नहीं रही. सपा नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री अरविंद सिंह गोप भी एक प्रतिनिधि मंडल लेकर वहां पहुंच गए हैं. अब विपक्षी दलों ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग की है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में जंगल राज कायम है. योगी सरकार में अपराध की बाढ़ आ गई है. वहीं सपा के प्रतिनिधि मंडल ने पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपये मुआवजा और सरकारी नौकरी देने की मांग की है.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it