Top
Begin typing your search...

बाराबंकी: आवास विकास कॉलोनी में एक ही परिवार के चार लोगों ने लगाई फांसी

यूपी के बाराबंकी में मंगलवार को एक ही परिवार के चार लोग फांसी के फंदे पर लटकते मिले। सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया।

बाराबंकी: आवास विकास कॉलोनी में एक ही परिवार के चार लोगों ने लगाई फांसी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

एक ही परिवार के चार लोग फांसी के फंदे पर लटकते मिले।

बाराबंकी। यूपी के बाराबंकी में मंगलवार को एक ही परिवार के चार लोग फांसी के फंदे पर लटकते मिले। सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। आनन फानन में मौके पर पुलिस अधीक्षक पहुंचे। शव को नीचे उतारकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा जा रहा है। पुलिस के मुताबिक, मामले की छानबीन की जा रही है।

दरअसल, घटना जिले के कोतवाली शहर क्षेत्र में लखनऊ रोड किनारे बसी आवास विकास कालोनी के सेक्टर 5 में किराए पर रहने वाले बलिया के एक परिवार के चार सदस्यों के शव मिले। मृतकों में पति पत्नी और उनके 2 बच्चे है। चारों शव फांसी पर लटक रही थीं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

सफेदाबाद में 5 जून को हुए विवेक शुक्ला आत्महत्या कांड में 5 सदस्यों वाले पूरे परिवार के अंत की दास्तां अभी जेहन से मिटी नही थी कि आवास विकास में मंगलवार को हुई इस वारदात ने फिर से झकझोर दिया। बलिया के घोसी थाना क्षेत्र के रहने वाले ललित किशोर गौड़ पत्नी प्रीति और दो बेटे 12 साल के प्रेम और 8 साल के अप्रित के साथ सेक्टर 5 में मकान लेकर किराए पर रह रहे थे। दिल्ली और लखनऊ में जॉब कर वो अपनी जीविका चला रहे थे। बताते है कि वर्तमान में एलईडी बनाने की फर्म खोली थी।

आज सुबह लगभग साढ़े 9 बजे इस परिवार के अंत का खुलासा हुआ। परिवार के चारों सदस्यों के शव फांसी पर लटक रहे थे। ललित कुमार गौड़ ने आत्महत्या से पूर्व छोड़े गए सुसाइड नोट में परिवार के भीतर सम्पत्ति के बटवारे का जिक्र किया है। मऊ जनपद में रहने वाले अपने भाई से उनका विवाद चल रहा था। पहली नजर में पुलिस भी इस वारदात के पीछे यही वजह मानकर चल रही है। मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने मृतक के गृह जनपद में रहने वाले परिवार के लोगों को सूचना भेज दी है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it