Begin typing your search...

फर्जी आईपीएस बन जावेद ने फेसबुक पर मंगाए कई लडकियों की न्यूड फोटो, और फिर इस बात फ़ैल गया रायता!

फर्जी आईपीएस बन जावेद ने फेसबुक पर मंगाए कई लडकियों की न्यूड फोटो, और फिर इस बात फ़ैल गया रायता!
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तर प्रदेश के बरेली (Bareilly) जिले के इज्जतनगर थाने में पूछताछ के दौरान 52 वर्षीय रिक्शेवाले जावेद (Javed) ने बताया कि फेसबुक पर दोस्ती के बाद मुंबई (Mumbai) से लेकर बरेली तक दर्जनों लड़कियों ने उसे शादी के प्रस्ताव भेजे. जावेद पिछले 6 महीनों से महाराष्ट्र (Maharashtra) में तैनात बरेली निवासी आईपीएस नुरुल हसन (IPS Nurul Hasan) की फोटो लगाकर लड़कियों से चैटिंग कर रहा था. कई लड़कियों ने उसे फेसबुक पर आई लव यू के मैसेज भेजे तो वह भी बदले में आई लव यू टू लिखकर भेज देता था. आईपीएस के नाम की फर्जी आईडी बना कर जावेद ने राजस्थान की नर्स और महिला वकील समेत कई अच्छी प्रोफाइल वाली महिलाओं से दोस्ती कर ली. धीरे-धीरे ये दोस्ती अश्लील चैटिंग में बदलती चली गई. इसके बाद लड़कियां बिना मांगे ही उसे अपनी न्यूड तस्वीरें एवं वीडियो भेजने लगीं।

रिक्शेवाले ने पुलिस से कहा- मैं प्यार-मोहब्बत के लिए ही बना हूं, मेरे दूसरे मोबाइल में और भी न्यूड फोटो है

जावेद ने कहा कि पहले तो मुझे बहुत मजा आ रहा था पर अब सजा भुगतनी पड़ेगी ये पता नहीं था. इसके साथ ही उसने पुलिस के सामने साफ शब्दों में कहा कि मैं प्यार-मोहब्बत के लिए ही बना हूं. साथ ही उसने बताया कि घर में उसका एक और मोबाइल पड़ा हुआ है, जिसमें और भी ज्यादा अश्लील चीजें भरी हुई हैं. हाई स्कूल फेल जावेद ने कहा कि वह थोड़ी बहुत अंग्रेजी जानता है. लड़कियां अपने किस करते हुय फोटो भेजने के बाद न्यूड तस्वीरें भेजने लगीं. उसने कई लड़कियों की फोटो और चैटिंग भी दिखाई. वर्तमान में वह 16 लड़कियों के साथ चैटिंग कर रहा था. पूछताछ के बाद इज्जतनगर पुलिस ने उसे मुकदमे में दाखिल कर दिया. सोमवार को जावेद को भी कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया. जावेद ने बताया कि बरेली की युवती उसे सबसे ज्यादा मैसेज और कॉल करती थी. हालांकि उसने कॉल कभी रिसीव नहीं की और न ही वीडियो कॉल की.

आईपीएस की फोटो लगाने के बाद 500 से हुए 5000 फ्रेंड्स

रिक्शा चालक जावेद ने कहा कि पहले उसके 500 दोस्त फेसबुक पर थे. आईपीएस का फोटो लगाने के बाद कुछ ही दिनों में उनके 5 हजार दोस्त हो गये. उनकी लिमिट फुल हो गईं, उसमें से 3500 लड़कियां दोस्त थीं. बता दें जावेद दिल्ली में रिक्शा चलाता है, उसका एक जवान बेटा भी है. उसकी बीवी को पता लग गया कि जावेद काम धंधा छोड़कर फेसबुक पर चैटिंग में लगा रहता है. लड़कियों की नंगी तस्वीरें देखकर उसकी बीवी ने उसके 5 मोबाइल तोड़ दिये. इसके बावजूद उसने चैटिंग बंद नहीं की. पुलिस के उठाने के बाद उसकी चैटिंग बंद हुई. पुलिस ने उसका मोबाइल कब्जे में ले लिया है.

आईपीएस पर आरोप लगाने वाली मां-बेटी का भी खुला भेद

बीते रविवार को जब पुलिस ने जावेद की पहचान करने के लिए युवती को बुलाया तो उसने हंगामा कर दिया. बाद में पुलिस ने छात्रा और उसकी मां को हिरासत में लेकर महिला थाने भेज दिया. सोमवार को जावेद को इज्जत नगर थाने में पेश कर जेल भेजा गया. वहीं मां-बेटी को महिला थाने से कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया. इधर, आईपीएस नुरूल हसन के पिता शमशुल हसन ने सोमवार को एक नई रिपोर्ट दर्ज कराई. जिसके बाद मां-बेटी का भी भेद खुल गया. पता चला कि इधर मां-बेटी ने आईपीएस के खिलाफ पुलिस में शिकायत भी कर दी थी और उधर लगातार कुछ दिनों से नुरूल हसन के पिता शमशुल हसन को फोन कर के आईपीएस से शादी करवाने का दबाव बना रही थी.

उसके बाद सोमवार को पिता शमशुल हसन ने जो रिपोर्ट दर्ज कारई उसके मुताबिक युवती 2 नंबरों से उन्हें लगातार कॉल कर रही थी. उसका जोर था कि नूरूल हसन से उसकी शादी करा दी जाए. ऐसा न करने पर उन्हें और आईपीएस बेटे को झूठे केस में फंसाने की धमकी दी जा रही थी. उनसे रंगदारी मांगने की भी कोशिश की गई. युवती ने धमकी दी कि ऐसा नहीं किया तो वह महाराष्ट्र में जाकर आत्महत्या कर लेगी.

युवती बोली- आईपीएस ही दोषी है, मैं सुप्रीम कोर्ट तक जाउंगी

इधर महिला थाने में बैठी युवती का कहना था कि वह पूरी तरह यकीन से कह रही है कि उससे बात करने वाला कोई हाई स्कूल पास रिक्शावाला नहीं हो सकता. उसने जावेद से कुछ सवाल किए जिनका वो जवाब नहीं दे पाया. युवती ने दावा किया कि जावेद को केवल मोहरा बनाया गया है, नुरूल हसन की इसमें कोई न कोई भूमिका जरूर है पर पुलिस अपने विभाग के अफसर को बचा रही है. युवती ने बताया कि महाराष्ट्र के एक रिपोर्टर के जरिये आईपीएस ने उससे संपर्क साधा और उससे ऐसे कई लिंक ले लिए. वह उनके पिता को बस इसीलिए कॉल कर रही थी कि अपने आईपीएस बेटे को सामने करके एक बार उससे बात करा दें.

युवती ने कहा कि आईपीएस दोषी है इसीलिए सामने नहीं आए. उसके रुपये मांगने का कोई सबूत अगर आईपीएस का परिवार पेश कर दे तो वह खुद गलती मानकर खामोश हो जाएगी. उसने कहा कि मुझे अगर इस तरह दबाया जा रहा है तो मैं सुप्रीम कोर्ट तक न्याय की लड़ाई लड़ूंगी.

पुलिस बोली- असली आरोपी जावेद ही है

हालांकि, सीओ थर्ड कुलदीप कुमार ने साफ कहा कि इस मामले में जावेद ही असली आरोपी है. उसके मोबाइल, फेसबुक आईडी एवं अन्य चीजों से पुलिस ने ढेर सारे साक्ष्य जुटा लिए हैं. छात्रा और उसकी मां डबल गेम खेल रही थीं. वे एक तरफ पुलिस पर जल्द कार्रवाई का दबाव बना रही थीं और दूसरी ओर आईपीएस के परिवार पर शादी एवं अन्य मांगें पूरी करने का दबाव बना रही थीं. आईपीएस के पिता ने इनके खिलाफ काफी सबूत जुटा लिए हैं जो विवेचना में काम आएंगे.

Special Coverage News
Next Story
Share it