Begin typing your search...

बरेली मर्डर केस : FIR दर्ज नहीं करना पड़ा भारी, एसएसपी ने दो इंस्पेक्टर किए सस्पेंड

बरेली मर्डर केस : FIR दर्ज नहीं करना पड़ा भारी, एसएसपी ने दो इंस्पेक्टर किए सस्पेंड
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बरेली : उत्तर प्रदेश के बरेली में प्रॉपर्टी विवाद (Property Dispute) के चलते रिटायर्ड पुलिसकर्मी ने अपने दो बेटों के साथ मिलकर बड़े बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी और शव को कब्रिस्तान में दफना दिया. थाना पुलिस पर आरोप है कि पीड़ित महिला 6 महीने अपने पति की हत्या (Murder) का मुकदमा दर्ज कराने के लिए अफसरों के चक्कर लगा रही थी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. अब जब नए पुलिस कप्तान के सामने इस प्रकरण को रखा तो उन्होंने एएसपी साद मियां से जांच कराई. इसके बाद हत्या की वारदात का खुलासा हुआ जिसके बाद पुलिस ने पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं समय पर कार्रवाई न करने पर एसएसपी ने इंस्पेक्टर को भी सस्पेंड कर दिया है.

इसके अलावा भी एसएसपी रोहित सिंह सजवान ने प्रेम नगर थाना प्रभारी बलबीर सिंह को भी सस्पेंड कर दिया है. इंस्पेक्टर प्रेमनगर पर भी हत्या के मामले में 2 महीने तक रिपोर्ट दर्ज नहीं करने का आरोप है. बीते 24 घंटे में दो थाना प्रभारियों के सस्पेंड होने से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है. अफसर खां अब इस दुनिया में नही रहा. अफसर की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसके पिता और भाई ने गोली मारकर की. अफसर खां की पत्नी हिना खान ने बताया कि पैसों और प्रॉपर्टी को लेकर उसके ससुर और देवर उसके पति से आए दिन झगड़ते रहते थे. हिना ने बताया कि 11 अप्रैल 2020 को भी मेरे पति के साथ ससुर और देवर का दुकान और पैसों को लेकर झगड़ा हुआ. इसी दौरान मेरे ससुर ने मेरे पति की गोली मारकर हत्या कर दी और शव को कब्रिस्तान में दफना दिया. इतना ही नहीं मुझे एक कमरे में बन्द कर दिया गया.

पुलिस पर बड़ा आरोप

हिना ने बताया कि 40 दिन बाद जब उसके मायके वाले उसे घर लेकर गए तो उसने किला थाने जाकर पूरी घटना बताई, लेकिन पुलिस ने उसकी नहीं सुनी. इसके बाद अब जब नए एसएसपी रोहित सिंह सजवाण आए तो उनसे हिना ने शिकायत की. इसके बाद मजिस्ट्रेट के आदेश पर 6 महीने बाद शव को कब्र से निकलवाकर उसका पोस्टमार्टम कराया गया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली मारकर हत्या की पुष्टि हुई तो पुलिस ने हिना के ससुर अंसार खां और देवर आमिर को गिरफ्तार कर लिया, जबकि अभी एक आरोपी फरार है.

हिना के चाचा का कहना है कि उसकी शादी 2016 में हुई थी और शादी के बाद से ही उसकी ससुराल वाले उसे परेशान करते थे. इतना ही नहीं साढ़े 3 साल तक ससुराल वालों ने उसे मायके नहीं आने दिया।. इस बीच हिना के घर में उसके भाई की शादी भी हुई और उसकी मां और दादी की मौत भी हुई, लेकिन ससुराल वालों ने उसे मायके नहीं जाने दिया. हिना की एक साढ़े 3 साल की बेटी भी है, लेकिन उसकी बेटी ससुराल वालों के पास ही है.

बड़ी कार्रवाई

वहीं इस मामले में एसएसपी रोहित सिंह सजवाण का कहना है कि हिना की तहरीर पर उसके ससुर और देवर के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करके ससुर और देवर को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं इस मामले में हत्या जैसे जघन्य अपराध की एफआईआर दर्ज नहीं करने वाले इंस्पेक्टर किला मनोज कुमार को एसएसपी ने निलंबित कर दिया है और उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए हैं.

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it