Top
Begin typing your search...

CM योगी का बड़ा बयान- तुम्हारे लिए खाली करवा रखा है जेल, अपने बच्चों को विदेश....

बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में ऑपरेशन कायाकल्प के माध्यम से हुए अवस्थापना विकास, प्रेरणा कार्यक्रम से हुए शैक्षिक गुणवत्ता सुधार....

CM योगी का बड़ा बयान- तुम्हारे लिए खाली करवा रखा है जेल, अपने बच्चों को विदेश....
X
UP CM Yogi Adityanath
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व की सरकारों में नौकरियों की चयन प्रक्रिया में फैले भ्रष्टाचार को लेकर बड़ा बयान दिया. सीएम योगी ने कहा कि 2017 से पहले इसी प्रदेश में जब भी कहीं भर्ती निकलती थी तो कुछ गैंग ऐसे थे जो वसूली के लिए निकल पड़ते थे. कुछ खानदान और कुछ परिवार ऐसे थे, जिनके लिए भर्तियों में वसूली, आजीविका का जरिया हो गया था. कोई भर्ती निकलती थी तो यह लोग झोला लेकर निकल पड़ते थे वसूली के लिए. लेकिन अब इन्हें मालूम हैं कि यह झोला लेकर निकलेंगे तो हमारी एजेंसियां सतर्क हैं और इनके लिए हमने जेलें भी खाली करवा रखी हैं।

सीएम ने कहा कि इन 4 वर्षों में इन लोगों की अवैध कमाई बंद हो गई है तो अब यह लोग युवाओं को गुमराह करने में लग गए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि भर्ती की शुचिता को कलंकित करने वालों के खिलाफ कठोरता पूर्वक कार्रवाई की गई और उसके परिणाम सामने हैं. उन्होंने कहा कि जल्द ही हम एक और परीक्षा कराने जा रहे हैं, जिसमें आवेदकों की संख्या 30 लाख है. देश की सबसे बड़ी परीक्षा होने जा रही है और विश्वास रखें कोई तिनका नहीं हिलेगा।

बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में ऑपरेशन कायाकल्प के माध्यम से हुए अवस्थापना विकास, प्रेरणा कार्यक्रम से हुए शैक्षिक गुणवत्ता सुधार आदि का जिक्र करते हुए सीएम ने पूर्ववर्ती सरकारों को शिक्षा की उपेक्षा करने पर तंज भी कसा. सीएम ने कहा कि आज जब उत्तर प्रदेश के बेसिक विद्यालयों की परफॉर्मेंस ग्रेडिंग के राष्ट्रीय मानकों पर श्रेष्ठतम होती जा रही है तो कुछ लोगों को यह सुहा नहीं रहा. कहने को तो 2017 से पहले 1,35000 परिषदीय विद्यालय थे, लेकिन हालत दयनीय थी. स्कूल थे तो शिक्षक नहीं, शिक्षक थे तो छात्र नहीं, छात्र थे तो पढ़ाई का नाम नहीं.सीएम योगी न्र नए चयनित 6,696 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र सौंपा।

उन्होंने सभी नवचयनित सहायक अध्यापकों को बधाई व शुभकामनाएं दीं. साथ ही पारदर्शी तरीके से शिक्षक भर्ती प्रक्रिया पूरी करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग की सराहना की. इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने नाम लिए बिना ऐसे नेताओं को कटघरे में खड़ा किया, जिनके बेटे विदेशों में पढ़ने जाते हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई अपने बच्चों को ऑस्ट्रेलिया भेजता था, कोई इंग्लैंड भेजता है, गरीब का बच्चा न पढ़ पाए इसीलिए स्कूल जर्जर करके छोड़ दिए. उत्तर प्रदेश के 1 लाख 35 बेसिक शिक्षा के स्कूल जर्जर थे. 2017 के पहले भी सरकारें थीं, क्या कर रहे थे ये लोग? सीएम ने आगे कहा कि बजट भी था, वेतन के लिए पैसा देते थे, भवन के नाम पर पैसा जाता था, लेकिन विद्यालय जर्जर थे. भवनों पर पीपल, बरगद का पेड़ उगा रहता था.

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it