Begin typing your search...

एक मुस्लिम परिवार कर रहा है पूरी शिद्दत से गाय की सेवा

एक मुस्लिम परिवार कर रहा है पूरी शिद्दत से गाय की सेवा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

एक मुस्लिम परिवार कर रहा है पूरी शिद्दत से गाय की सेवा। कुछ समय पहले ही एक गाय से जुड़े मामले में जहां नोयडा क्षेत्र के निवासी अखलाक को भीड़ ने पीटकर मार डाला था तो वहीं बिजनोर के नगीना के मौहल्ला मुस्लिम कटेरा निवासी अखलाक अहमद जो एक सीधा सादा किसान है,सबकुछ भूलकर एक गाय की सेवा में रात दिन लगा है।गाय पालने का शौक व उनकी सेवा करने का उनके पुराने पुरखों से चला आ रहा है। बताया जाता है की उनकी यह गाय रोजाना की तरह घर में चारा खा रही थी। अचानक चारा खाते खाते नीचे गिर गई। और उठी नहीं। कृषक अखलाक ने तुरंत पशु चिकित्सालय के डाक्टर को दिखाया तो उन्होंने भी इन्जेक्शन व दवाईयां दे दी थी।


एक माह से पुरा परिवार उसकी सेवा में लगा हुआ है। गाय को एक ही स्थान पर बैठे लगभग एक माह से ज्यादा हो गया है। और चार पांच दिन पहले इसी स्थिति में एक बच्चे को जन्म भी दिया है। बच्चा माॅ का दुध कैसे पीये उस की परवरिश के लिए उसके परिवार के लोग इन्सानों के बच्चों की तरह उसे दुधदानी से दुध पिला रहे हैं। अब तक गरीब कृषक अखलाक अपनी बैठी गाय को खड़ा कराने के लिए पशु चिकित्सालय व प्राईवेट डाक्टरों को इलाज के नाम पर लगभग तीन चार हजार रूपये दे चुका है। लेकिन कोई भी डाक्टर उसको यह बताने को तैयार नहीं है कि यह कितने दिन में सही होगी। गाय को एक माह से ऐसे ही बैठा देखकर उसका परिवार बहुत परेशान हैं। पशु चिकित्सालय के डाक्टर भी उक्त गरीब कृषक की गाय को बिना पैसों के ठीक करने को तैयार नहीं है।

गरीब कृषक ने इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी बिजनौर की ओर ध्यान दिलाकर नगीना के पशु चिकित्सालय के डाक्टर को निर्देश जारी कर गाय का निःशुल्क उपचार कराने कि मांग की है।

Special Coverage News
Next Story
Share it