Top
Begin typing your search...

बिजनौर की बेटी बनी IPS, काजल सिंह ने अनुभव और संघर्ष की बताई कहानी

बिजनौर की बेटी बनी IPS, काजल सिंह ने अनुभव और संघर्ष की बताई कहानी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बिजनौर। बिजनौर जिले की बेटी काजल ने यूपीएससी परीक्षा की पास । काजल ने 202 रैंक पाकर अपने गांव और जिले का नाम किया देश भर में रोशन । बेटी की सफलता पर घर पर लगा बधाई देने वालो का तांता । परिवार और रिश्तेदारी में दौड़ी खुशी की लहर । किसान की बेटी बनी आईपीएस । काजल ने यूपीएससी परीक्षा पास करने का श्रेय दिया माता पिता और दादा दादी को दिया।

बिजनौर जिले के हीमपुर थाना इलाके के गांव फतेहपुर कलां गांव के रहने वाले देवेंद्र सिंह की बेटी काजल सिंह ने अपना ही नही बल्कि अपने माता पिता दादा दादी का नाम रोशन कर दिया है यूपीएससी की परीक्षा पास करके । देवेंद्र सिंह के कोई लड़का नही है दो बेटियां है । लेकिन काजल के पिता देवेंद्र सिंह को बेटा न होने का कोई गम नही है । बल्कि काजल के पिता अपनी बेटी को ही अपना बेटा मानकर पढा रहे थे ।

यूपीएससी में परीक्षा पास कर बिजनौर जिले की बेटी काजल सिंह ने 202 रैंक प्राप्त की है । जिसके चलते काजल सिंह का आईपीएस बनना लगभग तय है । मीडिया को काजल सिंह ने अपने अनुभव और संघर्ष की कहानी बताई । काजल सिंह ने बिजनौर के सेंटमैरी स्कूल से कक्षा 4 तक पढ़ाई की और उसके बाद काजल ने अपना जिला छोड़ राजस्थान के वनस्थली से पढ़ाई पूरी की है । कुछ समय कोटा में यूपीएससी की कोचिंग ली और उसके बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की डिग्री ली ।

साल 2017 में काजल ने यूपीएससी की दोबारा तैयारी की और साल 2020 में आये PCS की परीक्षा में 36 वी रैंक प्राप्त कर डिप्टी कलेक्टर बनी । लेकिन काजल का लक्ष्य अभी पूरा नही हुआ था काजल ने फिर तैयारी शुरू की और यूपीएससी 2020 में कल ही आये परीक्षा परिणाम में काजल ने 202 वी रैंक पाई और सीधे IPS पर बन गयी ।



सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it