Begin typing your search...

बिजनौर : भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

किसानों के गन्ने का भुगतान 14 दिन में मिल मालिकों से दिलाए जाने की बात प्रदेश सरकार द्वारा कही गई थी।

बिजनौर : भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बिजनौर : भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने आज कई मांगों को लेकर जनपद के कई थानों में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं ने कई सूत्री ज्ञापन जिला प्रशासन के अधिकारियों को सौंपा। भारतीय किसान यूनियन के किसान नेता का आरोप है कि प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के गन्ने का भुगतान 14 दिन में मिल मालिकों से दिलाए जाने की बात प्रदेश सरकार द्वारा कही गई थी। न

लेकिन लगातार जनपद के मिल मालिकों द्वारा किसानों के गन्ने का भुगतान नहीं किया जा रहा है।किसानों की मांग है कि गन्ने का भुगतान ब्याज सहित कराया जाए। इसको लेकर किसानों ने जनपद के विभिन्न विभिन्न थानों में प्रदर्शन कर ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारियों को सौंपा है।

जनपद बिजनौर के सभी थानों में गन्ने के पेमेंट को लेकर किसानों ने प्रदर्शन किया। किसानों का कहना है कि प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने किसानों से वादा किया था कि सभी मिल मालिकों द्वारा 14 दिन के अंदर किसानों के गन्ने का पेमेंट कराया जाएगा। लेकिन गन्ने का पेमेंट ना मिलने से किसान काफी परेशान है।किसानों का आरोप है कि प्रदेश सरकार द्वारा गन्ने का पेमेंट ब्याज सहित किसानों को दिलाया जाए। साथ ही कोविड-19 के नाम पर पुलिस द्वारा बेवजह जनता का चालान कर उत्पीड़न की किया जा रहा है। जिसका भारतीय किसान यूनियन विरोध करती है।

साथ ही किसानों के पानी के ट्यूबवेल का बिल अधिक आने के कारण किसान काफी परेशान है। प्रदेश सरकार द्वारा इस महामारी के दौर में किसानों को राहत देने के लिए ट्यूबवेल के बिजली का बिल माफ किया जाए। किसान नेता सुनील प्रधान का कहना है कि अगर प्रदेश सरकार द्वारा उनकी मांग नहीं मानी जाती है तो संगठन के आवाहन पर आगे की रणनीति तय करके सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया जाएगा।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it