Begin typing your search...

गर्भवती एड्स पीड़िता की नही की महिला ज़िला अस्पताल में डिलीवरी

गर्भवती एड्स पीड़िता की नही की महिला ज़िला अस्पताल में डिलीवरी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

फैसल खान बिजनौर

बिजनौर महिला ज़िला अस्पताल में एक महिला के परिजनों ने उस वक़्त हँगामा शुरू कर दिया जब 2 दिन पूर्व से ज़िला अस्पताल में डिलीवरी कराने आई महिला को किसी भी डॉक्टर ने देखना तक गवारा न किया। और तो और चक्कर कटाने के बाद उसकी डिलीवरी करने की जगह उसे मेरठ रेफर कर दिया। परिजनों की माने तो डॉक्टर्स महिला की डिलीवरी करने व उसे उपचार दिए जाने से बच रही थी क्योंकि महिला एड्स संक्रमण से पीड़ित थी। जिस पर डॉक्टर्स उसे छूना भी पसंद नही कर रही थी।


पीड़ित महिला थानाक्षेत्र नूरपुर के ग्राम मेमदेबाद को रहने वाले थी जो प्रसव पीढ़ा के कारण 2 दिन पहले बिजनौर महिला ज़िला अस्पताल में इलाज कराने आई तो। लेकिन डॉक्टर्स को जैसे ही महिला के एच आई वी संक्रमण से ग्रस्त होने की जानकारी हुई तो महिला को भर्ती कर इलाज करना तक पसंद नही किया।


महिला व उसके परिजन डॉक्टर्स के पीछे चक्कर लगाते रहे लेकिन उनकी कोई सुनवाई नही की गई। परिजन तो उस वक़्त गुस्सा गए जब डॉक्टर्स ने 2 दिन तक चक्कर कटाने के बाद भी अस्पताल में ऐसे रोगियों के मुलभुत सुविधाओं का अभाव होने की बात कहकर मेरठ रेफर कर दिया। परिजनों ने जमकर हंगामा करना शुरू कर दिया।


डॉक्टर्स की माने तो महिला एच आई वी संक्रमण से पीड़ित थी और उसकी हालत बेहद नाज़ुक थी। उसकी डिलीवरी आपरेशन से होती लेकिन महिला ज़िला अस्पताल में सिर्फ 1 ही ओटी है। महिला के ऑपरेशन से भर्ती और मरीज़ों को भी संक्रमण फैलने का खतरा हो सकता था। महिला की हालत नाज़ुक व स्थिति को देखते हुए उसे मेरठ रेफर किया गया है।

Special Coverage News
Next Story
Share it