Begin typing your search...

यूपी के बिजनौर में एसडीएम पंकज वर्मा का काबिले तारीफ़ काम, कार्य के साथ बच्चों को पढ़ा रहे है!

यूपी के बिजनौर में एसडीएम पंकज वर्मा का काबिले तारीफ़ काम, कार्य के साथ बच्चों को पढ़ा रहे है!
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

फैसल खान बिजनौर

क्या आपने एसडीएम को पीसीएस और आईएएस की पाठशाला लगाते हुए देखा है। वह भी उस दौरान जबकि वह रिटायरमेंट नहीं बल्कि दिन भर की प्रशासनिक भागदौड़ के बीच समय निकालकर बच्चों को पढ़ाते हो। आज हम आपको एक ऐसे ही अधिकारी की पाठशाला दिखाने जा रहे हैं जिनके जज्बे को पूरा बिजनौर सलाम कर रहा है।


जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर उत्तराखंड की सीमा से सटे नजीबाबाद की तहसील आजकल खासी चर्चाओ में है। क्योंकि इस तहसील पर एसडीएम के रूप में जनता को एक सोशल वर्कर के रूप में एसडीएम जो मिल गया है। एक तरफ जहां इनकी बीवी मलिन बस्तियों में शिक्षा की अलख जगा रही है तो वहीं दूसरी ओर खुद एसडीएम डॉक्टर पंकज कुमार वर्मा अपने तहसील के डवाकरा हाल में 100 से अधिक बच्चों की पाठशाला चला रहे हैं। तो चलिए इस बारे में पाठशाला के बच्चों से ही जानते हैं कि वह एसडीएम के बारे में क्या कहते हैं आप भी खुद ही सुन लीजिए।



जी तो सुना आपने किस तरह से समय निकालकर बच्चों को पाठशाला देकर पीसीएस और आईएएस की मुहिम चला रहे हैं नजीबाबाद के एसडीएम डॉक्टर पंकज कुमार वर्मा। जिन्होंने पाठशाला के बच्चों का एक ग्रुप बना कर रोज के समय की सूचना ग्रुप के माध्यम से देकर बच्चों को पाठशाला में बुलाया जाता है। एसडीएम के इस कदम को देखकर गाज गिरने के डर से सरकारी स्कूलों के टीचर भी अब समय पर स्कूल जाने लगे हैं। रोजाना समय निकालकर पाठशाला देने से लोग भी हैरान हैं। क्षेत्रीय लोग भी अब इनके जज्बात को सलाम करने लगे हैं।



बताया जा रहा है कि अलीगढ़ में तैनाती के दौरान इनकी पाठशाला से दो बच्चे पीसीएस बन चुके हैं। फिलहाल एसडीएम डॉक्टर पंकज कुमार वर्मा के कार्यों की जिला बिजनौर में चारों ओर सराहना हो रही है।

Special Coverage News
Next Story
Share it