Begin typing your search...

चन्दौली में नाग पंचमी की अनोखी परंपरा, दो गांवों के बीच चलता है पत्थर

हजारो सालों से चली आ रही ,परमपरा को लोग आज भी बडी सिद्दत के साथ निभाते है

चन्दौली में नाग पंचमी की अनोखी परंपरा, दो गांवों के बीच चलता है पत्थर
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तर प्रदेश के चन्दौली में नाग पंचमी पर अनोखी परम्परा है. यहां दो गांव के लोग आपस में पत्थरबाजी करते है. दो गांवों के पत्थरबाजी का का यह क्रम तब तक चलता है जब तक कि किसी व्यक्ति का सर न फुट जाए. सैकड़ो वर्षों पहले बनी अंधविश्वासी परंपरा को आज भी परंपरा को पूरी शिद्दत से मनाते है।


. खास बात यह इस दौरन पुलिस मूकदर्शक बनी खड़ी रहती है. दरअसल बलुआ थाना क्षेत्र के बिशुपुर व महुआरी गांव की महिलाएं, पुरूष, नागपंचमी के दिन में भगवान शिव की आराधना करते है.।


जिसके बाद शाम चार पांच बजे के करीब दोनों गांवों के युवा, महिला, गंगा नदी जाने वाले नाला पर इकट्ठा हुए. इसके पूर्व महिलाओं व लड़िकयों की टोली ने कजरी की गीतों को गाते हुए सामूहिक नृत्य किया. इस दौरान क्षेत्राधिकारी अनिरुद्ध सिंह, बलुआ इंस्पेक्टर राजीव कुमार सिंह समेत भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रही.

Desk Editor
Next Story
Share it