Top
Begin typing your search...

नागरिकता कानून: दिल्ली में हुए हिंसक प्रदर्शन की आग अब यूपी पंहुचा, आगरा में अलर्ट, कई जिलों में इंटरनेट सेवा रोका गया

नागरिकता कानून: दिल्ली में हुए हिंसक प्रदर्शन की आग अब यूपी पंहुचा, आगरा में अलर्ट, कई जिलों में इंटरनेट सेवा रोका गया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। नागरिकता संसोधन एक्ट से अब लगभग पूरे देश में प्रदर्शन की खबरें आ रही है. शुरुआत में पूर्वोत्तर राज्यों से हिंसा की खबरें आई थी लेकिन उसके बाद से देश के कई हिस्सों से धरना प्रदर्शन की आवाज आना शुरू हो गई. देर रात दिल्ली के जामिया से शुरू हुआ बवाल अब अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से होता हुआ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पहुँच चुका है. लखनऊ के नदवा कालेज में प्रदर्शन के दौरान पुलिस और छात्र व आम जनता में पथराव की जानकारी मिली है. मौके की नजाकत भांपकर काफी मात्रा में पुलिसबल उपलब्ध कराया गया है.

नागरिकता संशोधन कानून पर दिल्ली में रविवार को हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद आगरा मंडल में भी अलर्ट कर दिया गया। जिले में सेक्टर और जोन स्कीम लागू कर दी गई। शहर और देहात के संवेदनशील इलाकों में पुलिस तैनात कर दी गई। इसके बाद उत्तर प्रदेश के जिलों में भी अलर्ट किया गया है। आगरा शहर में 108 हॉट स्पाट हैं। अधिकारियों ने सभी स्थलों पर पुलिस तैनात कर दी है। सेक्टर और जोन स्कीम लागू की गई है। हर सेक्टर और जोन में मजिस्ट्रेट से लेकर एसपी और सीओ स्तर के अधिकारी को लगाया है। इसके अलावा थाना प्रभारी निरीक्षक को फोर्स के साथ गश्त के निर्देश दिए गए हैं। एलआईयू भी अलग से नजर बनाए हुए हैं।

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि सभी संवेदनशील स्थानों पर फोर्स लगाई गई है। थाना पुलिस को भी निर्देशित किया है। उधर, आईजी ए सतीश गणेश ने भी देर रात विभिन्न इलाकों में जाकर सुरक्षा व्यवस्था चेक की। उधर, पड़ोसी जिले मथुरा और फिरोजाबाद में पुलिस सतर्क है। मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान समेत प्रमुख स्थानों पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। फिरोजाबाद में एसएसपी सचिंद्र पटेल ने फोर्स के साथ पैदल मार्च किया। वहीं सोशल मीडिया पर भी निगरानी रखी जा रही है।

कासगंज जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है। जिलाधिकारी सीपी सिंह और एसपी सुशील घुले ने बताया कि विरोध प्रदर्शन को देखते हुए जिले में धारा144 लागू है। संवेदनशील क्षेत्रों में निगरानी की जा रही है। शांति का माहौल है। एहतियातन यह कदम उठाया है।

यूपी सरकार ने किया सभी से अपील

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के ऑफिस की तरफ से जारी बयान में सीएम ने शांति और सौहार्द की अपील करते हुए कहा, 'नागरिकता संशोधन कानून के संदर्भ में कुछ निहित स्वार्थी तत्वों द्वारा फैलाई जाने वाली किसी भी प्रकार की अफवाह पर ध्यान न दें। प्रदेश सरकार हर नागरिक को सुरक्षा प्रदान करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। इसके लिए यह भी आवश्यक है कि सभी नागरिकों द्वारा कानून का पालन किया जाए। राज्य में कायम अमन चैन के माहौल को प्रभावित करने की किसी को अनुमति नहीं है।'

आईजी ने बताया- स्टाफ पूरी तरह चौकस, ऐहतियात बरती जा रही

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिरीक्षक (कानून व्यवस्था) प्रवीण कुमार ने कहा, 'पूरे उत्तर प्रदेश में शांति है। जमीन पर स्टाफ पूरी तरह से चौकस है और सभी संबंधित लोगों से जुड़ा हुआ है। पूरी ऐहतियात बरती जा रही है।' बता दें कि दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन के बाद उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया गया है। दिल्ली से सटे पश्चिमी यूपी के 6 जिलों अलीगढ़, बुलंदशहर, कासगंज, मेरठ, सहारनपुर, बरेली में धारा 144 लागू कर दी गई है। मेरठ, सहारनपुर, अलीगढ़ में इंटरनेट सेवाओं पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया गया है।


Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it